रांची में 5.46 लाख लोग कोरोना कोरोना वैक्सीन से दूर:मात्र 1% गांव के लोगों को लग सका है दोनों डोज, 104 गांव ऐसे जहां सभी को सिंगल डोज लगे

रांचीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची में वैक्सीनेशन की रफ्तार बेहद ही सुस्त है। इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि 1420 गांव वाले जिले में मात्र 14 गांव ऐसे हैं जहां सभी को वैक्सीन के दोनों डोज लगाए जा चुके हैं। जबकि 104 गांव ऐसे हैं जहां सभी ग्रामीणों को पहला डोज लगाया जा सका है। बाकी के 1316 गांव अभी तक ऐसे हैं जहां अभी तक 100% आबादी को वैक्सीन की पहली डोज तक नहीं लगा जा सकी है।

आबादी की बात करें तो रांची जिले में 2130936 लोग 18+ हैं, जिन्हें कोरोना का वैक्सीन लगया जा सकता है। मई के बाद से 18+ के सभी व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने की इजाजत दी गई थी। 6 महीने बाद भी अभी तक रांची में 5.46 लाख लोग कोरोना वैक्सीन से दूर हैं। 1584621 लाख लोगों को पहला डोज लगाया जा सका है लेकिन इनके आधे से भी कम मात्र 799632 लाख लोगों वैक्सीन की दोनो डोज लगाई जा सकी है।

अब घर-घर दस्तक देगा प्रशासन
इस संबंध में पूछे जाने पर रांची के DC छवि रंजन ने बताया कि अब सेंटर की बजाय मोबाइल वैक्सीनेशन की संख्या में वृद्धि की जा रही है। हेल्थ वर्कर्स की टीम हर टोले में पहुंचेगी और लोगों को टीका लगाएगी। उन्होंने बताया कि पहली प्राथमिक्ता है कि जिनके सेकेंड डोज का टाइम एक्सटेंड कर गया है उन्हें खोज कर टीका लगाया जाए। इसके बाद जिन्होंने नहीं लिया है उन्हें पहला डोज लगाया जाएगा।

रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर बढ़ेगी सख्ती
कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर हेल्थ डिपार्टमेंट से निर्देश के बाद अब DC भी एक्शन में आ गए हैं। उन्होंने बताया कि रांची की सीमा पर सख्ती बढ़ाई जाएगी। इसके साथ ही रांची रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर जवानों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। उन्होंने बताया कि बाहरी राज्यों से रांची आने वाले सभी व्यक्ति की अब जांच की जाएगी। बिना जांच के किन्हीं को स्टेशन से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा। इसके लिए स्टेशन और एयर्पोर्ट पर जवानों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...