रांची में इंसिडेंट कमांडर नहीं मानते DC का आदेश:DC ने कहा- संक्रमितों को हर हाल में अस्पताल लाइए, हटिया स्टेशन से आज 17 पॉजिटिव मरीज घर गए

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्टेशन पर सैंपल जमा करने के दौरान न मजिस्ट्रेट उपस्थित रह रहे हैं और न इंसिडेट कमांडर। - Dainik Bhaskar
स्टेशन पर सैंपल जमा करने के दौरान न मजिस्ट्रेट उपस्थित रह रहे हैं और न इंसिडेट कमांडर।

रांची के अधिकारी शहर में कोरोना के फैलने का इंतजार कर रहे हैं। ये DC के आदेश का भी पालन नहीं कर रहे हैं। रांची DC छवि रंजन ने सोमवार को आदेश दिया था कि "स्टेशन और एयरपोर्ट पर संक्रमित पाए जाने वाले सभी व्यक्तियों को कोविड अस्पताल पहुंचाएं। एक भी मरीज घर गए तब इंसिडेंट कमांडर पर गिरेगी गाज।"

इसके बाद भी मंगलवार को हटिया स्टेशन से 17 संक्रमित घर चले गए। इन्हें न कोई रोकने वाला मिला न टोकने वाला। संक्रमितों को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस तो स्टेशन पहुंची थी लेकिन एंबुलेंस तक ले जाने के लिए वहां न मजिस्ट्रेट थे न इंसिडेंट कमांडर।

हेल्थवर्कर्स की सुनिए- मजिस्ट्रेट हैं लेकिन कहां हैं, पता नहीं
DC के आदेश के अगले दिन जब दैनिक भास्कर ने जब स्थिति का जायजा लिया तो लापरवाही की एक अलग तस्वीर निकल कर सामने आई। रांची स्टेशन पर कुछ लोग जांच तो करा रहे हैं लेकिन बड़ी संख्या में लोग बिना जांच कराए निकल जा रहे थे। हटिया स्टेशन पर दो शिक्षकों को मजिस्ट्रेट बनाया गया है। हेल्थ वर्कर्स कहते हैं वे कब आते हैं कब जाते हैं पता ही नहीं चलता। इंसिडेंट कमांडर कौन हैं इनकी उन्हें जानकारी तक नहीं। 1200 की भीड़ को संभालने के लिए वहां 4 पुलिसकर्मी की तैनाती की गई है।

स्टेशन से बड़ी संख्या में लोग बिना सैंपल दिए ही बाहर जाते दिखे।
स्टेशन से बड़ी संख्या में लोग बिना सैंपल दिए ही बाहर जाते दिखे।

अब तक जिस RAT किट से जांच कर रहे थे, वही अब गलत
रांची के सिविल सर्जन विनोद कुमार ने बताया कि 22 व 23 अक्टूबर को रेलवे स्टेशनों पर जांचे गए सैंपलों में करीब 129 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली थी। चूंकि सभी की जांच रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से हुई थी, इसलिए सभी सैंपल की आरटी-पीसीआर जांच कराई गई, जिसमें सारे संक्रमित निगेटिव हो गए। उन्होंने बताया कि RAT किट मं कुछ खामी है। वहीं हेल्थ वर्कर्स का कहना है कि अभी तक इसी किट से जांच रहे थे तब रिपोर्ट निगेटिव आ रही थी। अब पॉजिटिव आने पर किट ही खराब हो गया।

DC ने कहा-आदेश पूर्ववत जारी है
DC छवि रंजन ने भास्कर से बताया कि आदेश पूर्ववत जारी है। संक्रमितों को अस्पताल तक पहुंचाने की जिम्मेदारी इंसिडेंट कमांडर की है। संक्रमित आज कैसे घर गए हैं मैं इसे चेक करता हूं। ऐसे 22 और 23 को पॉजिटिव मिलने वाले RTPCR की टेस्ट में निगेटिव आ गए हैं।

स्टेशन में 166 संक्रमित मरीज मिले हैं 4 दिन में
रांची और हटिया स्टेशन औसतन हर रोज 1500 से ज्यादा लोगों की एंटीजन किट से जांच की जा रही है। पिछले 4 दिनों में इसी जांच में 166 संक्रमित मरीज मिले हैं। इनमें से किसी भी मरीज अस्पताल नहीं ले जाया गया है। सभी अपने-अपने घर चले गए हैं।