ऑर्डर कर भूलने से कैसे रुकेगा कोरोना?:हेल्थ डिपार्टमेंट के बाद अब रांची DC ने जारी किया आदेश, पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन की इजाजत नहीं, हकीकत 90% मरीज घर में करा रहे अपना इलाज

रांची9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
DC छवि रंजन ने सोमवार को कोविड टास्क फोर्स के साथ वर्चुअल बैठक की। उन्होंने जिले में कोविड की स्थिति की जानकारी ली और जरूरी निर्देश दिया। - Dainik Bhaskar
DC छवि रंजन ने सोमवार को कोविड टास्क फोर्स के साथ वर्चुअल बैठक की। उन्होंने जिले में कोविड की स्थिति की जानकारी ली और जरूरी निर्देश दिया।

कोरोना एक बार फिर जहां रांची मे पांव पसारना शुरू कर दिया है। वहीं हेल्थ डिपार्टमेंट और जिला प्रशासन बस आदेश जारी कर खानापूर्ति करने में जुटा है। पहले हेल्थ डिपार्टमेंट ने। अब जिला प्रशासन ने सोमवार को आदेश जारी किया है कि पॉजिटिव मरीजों को हर हाल में अस्पताल में एडमिट कराया जाएगा।

हकीकत इसके उलट तस्वीर बयां कर रही है। रांची में सोमवार तक लगभग 102 मरीज कोरोना संक्रमित थे। इनमें 90% मरीज होम आइसोलेशन में ही रहकर अपना इलाज करा रहे हैं। अब DC छवि रंजन रंजन ने सभी संक्रमित मरीजों का डिटेल संबंधित इंसिडेंट कमांडर से मांगा है।

इंसिडेंट कमांडर को दी गई है जिम्मेदारी
DC छवि रंजन ने कोविड टास्क फोर्स के सदस्यों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने सभी इंसिडेंट कमांडर से ये सुनिश्चित कराने के लिए कहा है कि कोई भी कोविड मरीज घर पर न हो, सभी इंस्टीच्यूशनल आइसोलेशन में रहें।। उन्होंने DDC को खेलगांव, सीसीएल और सदर अस्पताल में आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया है।

रांची में बढ़ेगी कोविड जांच की रफ्तार
टेस्टिंग सेल की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने जांच की संख्या बढ़ाने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति का सैंपल लिया जा रहा है उसकी सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त करें, मोबाइल नंबर जरूरवेरीफाई करें। अनुमंडल पदाधिकारी रांची को DC ने निर्देश दिया है कि ये सुनिश्चित करें कि मोबाइल नंबर वेरीफाई करने के लिए एक व्यक्ति हो। उन्होंने एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड के साथ प्रतिदिन कम से कम तीन स्कूलों में टेस्टिंग सेंटर संचालित करने का निदेश दिया।