रांची में VHP के प्रखंड अध्यक्ष की गोली मारकर हत्या:ज्वेलरी शॉप बंद कर घर लौट रहे थे; बदमाशों ने सीने में दागी 2 गोली

रांची6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुकेश सोनी पहले ट्रांसपोर्ट के बिजनेस में थे। इसे छोड़कर कुछ महीने पहले ही इन्होंने आभूषण का व्यापार शुरू किया था (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मुकेश सोनी पहले ट्रांसपोर्ट के बिजनेस में थे। इसे छोड़कर कुछ महीने पहले ही इन्होंने आभूषण का व्यापार शुरू किया था (फाइल फोटो)

रांची में विश्व हिंदू परिषद (VHP) के खलारी प्रखंड अध्यक्ष 38 वर्षीय मुकेश सोनी की बुधवार शाम गोली मार कर हत्या कर दी गई । वे शाम में 6.30 बजे मैक्लुस्कीगंज से अपने आभूषण की दुकान को बंद कर घर खलारी लौट रहे थे। इसी दौरान मैक्लुस्कीगंज और खलारी के बीच मायापुर में अज्ञात अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी।

गोली की आवाज सुनकर स्थानीय लोग जब वहां पहुंचे तो वे सड़क पर गिरे हुए थे। अपराधी वहां से फरार हो चुके थे। पुलिस को सूचना देकर स्थानीय लोग ही उन्हें लेकर डकरा सेंट्रल हॉस्पिटल पहुंचे, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत बता दिया। पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम की तैयारी में जुट गई है। गोली लगने के बाद उसने अपनी पत्नी को फोन कर घटना की जानकारी दी। फिर अचेत हो गया।

स्थानीय लोगों की मदद से घटना स्थल से डकरा सेंट्रल हॉस्पिटल लाया गया।
स्थानीय लोगों की मदद से घटना स्थल से डकरा सेंट्रल हॉस्पिटल लाया गया।

जांच में जुटी पुलिस, कुछ भी बोलने से किया इनकार
घटना की सूचना मिलते ही खलारी DSP अनिमेष नथानी, खलारी थाना प्रभारी फरीद आलम हॉस्पिटल पहुंचे। फिलहाल वे स्थानीय लोगों से मामले की जानकारी ले रहे हैं। फिलहाल इस मामले में पुलिस कुछ भी बताने से बच रही है। DSP ने बताया कि जल्द आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

हॉस्पिटल में ग्रामीणों की लगी भीड़
घटना की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में खलारी के लोग हॉस्पिटल पहुंच गए हैं। उनके जानने वालों ने बताया कि उनका कभी किसी से कोई विवाद नहीं रहा है। वे बेहद ही सौम्य और मिलनसार व्यवहार के थे।

घटना की सूचना मिलने के बाद लोगों में आक्रोश है और वे खलारी हॉस्पिटल पहुंच रहे हैं।
घटना की सूचना मिलने के बाद लोगों में आक्रोश है और वे खलारी हॉस्पिटल पहुंच रहे हैं।

कुछ महीने पहले ही शुरू किया था आभूषण का व्यापार
मुकेश सोनी पहले ट्रांसपोर्ट बिजनेस से जुड़े थे। इनकी बसें खलारी से रांची चलती थी। कुछ महीने पहले ही उसे बंद कर ये आभूषण के व्यापार से जुड़े थे और मैक्लुस्कीगंज में दुकान खोले थे। इनके दो बच्चे हैं। बड़ी बेटी 6 वर्ष की और 3 वर्ष का बेटा है।

(खलारी से इनपुट- अरुण कुमार चौरसिया )