फिर बदल गई कांटा टोली फ्लाई ओवर की लंबाई:अब कोकर के शांति नगर से योगदा मठ तक 2224 मीटर लंबा बनेगा कांटा टोली फ्लाई ओवर, 8 साल में तीसरी बार बनी DPR, 224.94 करोड़ होंगे खर्च

रांची9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नई DPR के मुताबिक इसे अब कोकर के शांति नगर से बहू बाजार होते हुए योगदा सत्संग मठ तक बनाया जाएगा। - Dainik Bhaskar
नई DPR के मुताबिक इसे अब कोकर के शांति नगर से बहू बाजार होते हुए योगदा सत्संग मठ तक बनाया जाएगा।

रांची में बहुप्रतीक्षित कांटा टोली फ्लाई ओवर के निर्माण में एक बार फिर से संशोधन किया गया है। नए संशोधन में इसकी लंबाई को भी बढ़ा दिया गया है। अब 2224 मीटर लंबा होगा, जो पुरानी DPR से लगभग 850 मीटर लंबा होगा। मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इसकी स्वीकृति दे दी गई है।

नई DPR के मुताबिक, इसे अब कोकर के शांति नगर से बहू बाजार होते हुए योगदा सत्संग मठ तक बनाया जाएगा। इसमें अब 224.94 करोड़ रुपए खर्च होंगे। पहले इसे कोकर स्थित शांति नगर से खादगढ़ा बस स्टैंड के थोड़ा आगे तक बनना था। नई DPR में इसे 24 महीने के भीतर पूरा कर लेने का लक्ष्य रखा गया है।

7 महीने पहले एजेंसी ने दिया था प्रेजेंटेशन

परामर्शी एजेंसी NL मालविया प्रा.लि. ने नगर विकास आवास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे के समक्ष फिजिब्लिटी रिपोर्ट का प्रेजेंटेशन दिया। Le। सचिव ने इस पर संतुष्टि जताई थी। साथ ही नई DPR जल्द बनाने और निर्माण शुरू करने का निर्देश दिया था।

फ्लाई ओवर में क्या होगा खास

प्रेजेंटेशन में बताया गया है कि कांटा टोली फ्लाई ओवर फोरलेन का होगा, जिसमें रेलिंग व डिवाइडर को मिलाकर सड़क की चौड़ाई 16.6 मीटर होगी। कुल लंबाई 2224 मीटर होगी। सुगम यातायात के लिए कांटा टोली चौक के जंक्शन के विकास का भी प्रावधान किया है। वहीं, खादगढ़ा बस स्टैंड के पास फ्लाई ओवर से दोनों ओर सड़क नीचे उतरेगी, ताकि बस स्टैंड जाने वाले लोगों को सहूलियत हो सके।

पहली बार 2012 में बनी थी फ्लाई ओवर की DPR

2012- अर्जुन मुंडा सरकार के कार्यकाल में पहली DPR बनी। 2015- रघुवर दास सरकार के कार्यकाल में दूसरी बार बनाई गई। 2021- अब हेमंत सोरेन सरकार के कार्यकाल में तीसरी बार बनेगी।

खबरें और भी हैं...