रांची की मेयर ने फिर खोला अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा:आशा लकड़ा ने कहा- अधिकारी कर रहे हैं मनमानी, बड़ी योजनाओं के टेंडर में इंजीनियर कर रहे घोटाला

रांची7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेयर आशा लकड़ा ने शनिवार को इंजीनियरिंग सेक्शन के कार्यों की समीक्षा की। - Dainik Bhaskar
मेयर आशा लकड़ा ने शनिवार को इंजीनियरिंग सेक्शन के कार्यों की समीक्षा की।

रांची की आशा लकड़ा ने कहा है कि रांची नगर निगम में लालफीताशाही है। अधिकारी अपनी मनमानी कर रहे हैं। खासकर बड़ी योजना के टेंडर में कई प्रकार की गड़बड़ियां की गई है। अधीक्षण अभियंता व उप नगर आयुक्त भी इन गड़बड़ियों पर मौन हैं। इससे यह स्पष्ट है कि रांची नगर निगम के इंजीनियरिंग शाखा में बड़े पैमाने पर घपला घोटाला किया गया है।

शनिवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा कि नगर आयुक्त को पत्र लिखकर इन मामलों की जांच कराने का निर्देश दिया जाएगा। साथ ही राज्य सरकार को भी इस मामले की जानकारी दी जाएगी, ताकि अभियंत्रण शाखा में कई जा रही गड़बड़ियों की जांच कर दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों पर उचित कार्रवाई की जा सके।

बैठक में नहीं आने वाले इंजीनियर को शो-कॉज
मेयर ने कहा कि मुख्य अभियंता राजदेव सिंह व कार्यपालक अभियंता रमेश सिंह समीक्षा बैठक में नहीं आए। इससे यह स्पष्ट है कि संबंधित अधिकारी अपनी गलती को छिपाने का प्रयास कर रहे हैं। मेयर ने उप नगर आयुक्त व अधीक्षण अभियंता को निर्देश देते हुए कहा कि तीन दिनों के अंदर संबंधित मामलों पर स्पष्टीकरण दिया जाए।

तीन दिन से ज्यादा अपने पास फाइल नहीं रख सकेंगे अधिकारी
उन्होंने अभियंत्रण शाखा के अधिकारियों से यह भी कहा कि अभियंत्रण शाखा से संबंधित फाइल किसी के पास तीन दिन से अधिक न रहे। जिन्हें संबंधित कार्य पर आपत्ति हो तो वे अपनी टिप्पणी कर फाइल को आगे बढ़ाएं। उन्होंने यह भी कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियो के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य नहीं कर रहे हैं, जिसके कारण आम लोगों की छोटी-छोटी समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है।