1010 रुपए के पेट्रोल ने रेपिस्ट को कराया अरेस्ट:रांची की नाबालिग से गैंगरेप करने वाले 3 आरोपी धराए, सभी 25 साल से छोटे

रांची7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक अपराधी नगड़ी और दो चान्हो का रहने वाला है। - Dainik Bhaskar
एक अपराधी नगड़ी और दो चान्हो का रहने वाला है।

रांची के चान्हों की नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप करने वाले तीनों दरिंदे गिरफ्तार कर लिए गए हैं। घटना के 12 घंटे के भीतर रांची पुलिस इन्हें इनके घर से ही दबोची है। इनके पास से घटना में इस्तेमाल किए गए सफेद रंग की I-10 कार और चाकू भी बरामद कर लिया गया है। कोविड टेस्ट की रिपोर्ट आने के बाद इन्हें जेल भेज दिया गया है।

इनकी गिरफ्तारी के बाो में रांची के SSP एसके झा ने दैनिक भास्कर को बताया कि लड़की के मुताबिक घटना के दौरान इन्होंने रिंग रोड पर 1010 रुपए का पेट्रोल डलवाया था। पीड़िता के इसी क्लू को ध्यान में रखकर रांची की SIT ने चान्हों से रिंगरोड तक की सभी सभी पेट्रोल पंप में पूछताछ की।

पूछताछ के क्रम में रिंगरोड स्थित सौम्या पेट्रोल पंप के स्टाफ ने बताया कि रविवार की सुबह सफेद रंग की एक I-10 कार ने 1010 रुपए का पेट्रोल डलवाया था। उन्होंने 100 की 10 और 10 के एक नोट दिए थे। यहीं से पुलिस को कार के नंबर और मालिक का पता चला, इसके बाद सभी की गिरफ्तारी हुई।

SSP एसके झा े प्रेस कांफ्रेंस कर मामले की जानकारी दी।
SSP एसके झा े प्रेस कांफ्रेंस कर मामले की जानकारी दी।

एक ही जगह से हुई तीनों की गिरफ्तारी
जब रांची पुलिस ने कार मालिक के घर में दबिश दी तो वहां पता चला कि कार को कुटुस अंसारी नामक युवक चला रहा है। इसके बाद रांची पुलिस ने नगड़ी स्थित कुटुस अंसारी के घर पहुंची तो यहां तीनों अपराधी गिरफ्तार हो गए। गिरफ्तार आरोपियों में सोहन कुमार 21 वर्ष, कुटुस अंसारी 25 वर्ष और इरसाद अंसारी 20 वर्ष शामिल है।

चलती कार में किया था रेप
चान्हो में रविवार सुबह 15 साल की एक किशोरी के साथ दरिंदगी हुई थी। तीन सहेलियों के साथ मॉर्निंग वॉक पर निकली 10वीं की छात्रा का कार सवार तीन युवकों ने अपहरण कर लिया। फिर चलती कार में उसके साथ दुष्कर्म किया और मांडर में टेढ़ापुल के पास सड़क पर फेंक कर फरार हाे गए थे।

15 किमी पैदल चलकर अपने घर पहुंची पीड़िता
पीड़िता काे सुबह 5:30 बजे उठाया गया था। दुष्कर्मियों ने जब उसे टेढ़ा पुल के पास छोडा ताे वह 15 किमी पैदल चलकर गांव पहुंची। उधर, पीड़िता की सहेलियों ने 100 नंबर पर डायल कर पुलिस कंट्रोल रूम काे इसकी जानकारी दे दी थी। पुलिस काे जैसे ही पता चला कि पीड़िता घर पहुंच गई है, पुलिस भी वहां पहुंची। पीड़िता और उसके घर वालों काे चान्हो थाना ले गई। वहां दिनभर पूछताछ चली।