महाधिवेशन को लेकर तैयारी समिति का निर्णय:रांची सजेगी, किसान, युवा, आदिवासी मूलवासी के नाम पर लगेंगे तोरण द्वार

रांची7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

18 दिसंबर को प्रस्तावित झामुमो के 12वें महाधिवेशन को लेकर रविवार को आयोजन सह स्वागत समिति की बैठक हुई। बैठक के बाद समिति के सदस्य और पार्टी महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने बताया कि इस बार पूरी रांची को सजाया जाएगा। 15 दिसंबर से ही शहर में 50 तोरण द्वार लगाने व राजधानी के 15 चौक-चौराहों को सजाने का काम प्रारंभ हो जाएगा।

बदली हुई राजनीतिक परिस्थिति में इस बार शहीदों के अलावा मजदूर, किसान, महिला, युवा, मूलवासी, आदिवासी, शोषण मुक्ति और आदि धर्म के नाम पर भी तोरण द्वार लगाये जाएंगे। बाहर से आनेवाले प्रतिनिधियों का झारखंडी रीति-रिवाज के साथ गर्मजोशी से स्वागत किया जाएगा। बैठक में विनोद पांडेय, मनोज कुमार पांडेय, नंद किशोर मेहता, प्रो. अशोक सिंह, मुश्ताक आलम, हेमलाल मेहता हेमू, महुआ माजी व अन्य मौजूद थे।

महाधिवेशन के लिए 500 रुपये तय किया गया प्रतिनिधि शुल्क

महाधिवेशन में भाग लेनेवाले प्रतिनिधियों को इस बार 500 रुपये शुल्क देना होगा। महासचिव विनोद कुमार पांडेय द्वारा केंद्रीय पदाधिकारियों, केंद्रीय कमेटी के सदस्यों, जिलाध्यक्ष व सचिवों को जारी निर्देश में कहा गया है कि वे 12 दिसंबर तक केंद्रीय कार्यालय में प्रतिनिधियों की सूची और शुल्क उपलब्ध करा दें। फिर 15 दिसंबर तक प्रतिनिधियों का परिचय पत्र प्राप्त कर लें।

खबरें और भी हैं...