कोरोना का कहर / 14 दिन में भी नहीं आई क्वारेंटाइन सेंटर के लोगों की रिपोर्ट, हंगामा; धनबाद में 8 दिन बाद आ रही रिपोर्ट

पतरातू ब्लॉक परिसर में अधिकारियों से मामले पर बात करती विधायक अंबा। पतरातू ब्लॉक परिसर में अधिकारियों से मामले पर बात करती विधायक अंबा।
X
पतरातू ब्लॉक परिसर में अधिकारियों से मामले पर बात करती विधायक अंबा।पतरातू ब्लॉक परिसर में अधिकारियों से मामले पर बात करती विधायक अंबा।

  • झारखंड में 5885 सैंपलाें की जांच पेंडिंग, धनबाद में सबसे ज्यादा देरी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:21 AM IST

रांची. पतरातू के हफुआ गांव के दाे लाेगाें की रिपाेर्ट 14 दिन बाद भी नहीं आई है। इसे लेकर शनिवार काे दर्जनाें ग्रामीण ब्लाॅक परिसर पहुंचे। हंगामा किया। वे लाेग आमरण अनशन की तैयारी कर रहे थे। तभी कांग्रेसी विधायक अंबा प्रसाद वहां पहुंचीं। उन्हाेंने तत्काल बीडीओ-सीओ काे बुलाया और देरी का कारण पूछा। अधिकारियाें ने आश्वस्त किया कि 24 मई काे रिपाेर्ट आ जाएगी।  
उधर राज्य में काेराेना जांच के लिए राेजाना करीब तीन हजार सैंपल लिए जा रहे हैं। लेकिन इसकी रिपाेर्ट लगातार पेंडिंग हाे रही है। अब तक राज्य में कुल 49,883 लाेगाें के सैंपल लिए गए, जिनमें से 43,998 की ही रिपाेर्ट आई है। यानी 5885 सैंपल की रिपाेर्ट अभी भी पेंडिंग हैं। रिपाेर्ट आने में सबसे ज्यादा समय पीएमसीएच धनबाद में लग रहा है। यहां सैंपल की रिपाेर्ट आठ-आठ दिन तक पेंडिंग है। सरकार जांच की संख्या बढ़ाकर राेजाना 5000 करना चाहती है। शनिवार काे राज्यभर में 2218 सैंपल कलेक्ट किए गए, मगर रिपोर्ट सिर्फ 1680 की ही आई।
रिम्स में भी 6 दिनाें की रिपाेर्ट पेंडिंग
राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में राेजाना सैंपलाें का बाेझ बढ़ रहा है। रिम्स में राेजाना करीब 1500 सैंपल लिए जा रहे हैं। यहां दाे आरटीपीसीआर मशीनें हैं, जिसके जरिए टेक्नीशियन दाे शिफ्टाें में करीब 600 सैंपल की ही जांच कर पाते हैं। यानी राेजाना करीब 900 सैंपल की जांच पेंडिंग हाे रही है। यहां रिपोर्ट आने में करीब छह दिन लग रहे हैं। इटकी आराेग्यशाला का हाल ताे और भी बुरा है। अप्रैल में यहां सैंपल जांच के लिए तीन छाेटी ऑटाेमैटिक एक्सट्रैक्शन मशीनें दी गई थीं। इनमें दाे मशीनें खराब हाे गई हैं। आराेग्यशाला के सुपरिंटेंडेंट डाॅ. रंजीत प्रसाद ने बताया कि अभी उनके यहां राेजाना करीब 1200 सैंपल आ रहे हैं। लेकिन एक ही मशीन हाेने के कारण जांच प्रभावित हाे रही है। एक घंटे में सिर्फ 24 सैंपलाें की ही जांच हाे पा रही है। इस कारण यहां करीब 3000 सैंपल पेंडिंग में हैं।
पीएचसीएच... धनबाद में 2621 सैंपल पेंडिंग
पीएमसीएच धनबाद के काेराेना टेस्टिंग लैब में राेजाना करीब 250 सैंपल आ रहे हैं। यहां अब तक कुल 6014 सैंपल आ चुके हैं, जिनमें से 3393 की ही रिपाेर्ट आई है। 2621 सैंपलाें की रिपाेर्ट पेंडिंग हैं। वहीं जमशेदपुर में कोई रिपाेर्ट पेंडिंग नहीं है।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा-सैंपल जांच की रफ्तार बढ़ाना जरूरी
स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा, सरकार का प्रयास है कि राेजाना 5000 सैंपल की जांच हाे। इसके लिए  हजारीबाग, दुमका और देवघर में लैब की स्थापना कर 2-2 आरटीपीसीआर मशीन लगाने की तैयारी चल रही है। राज्य के 24 जिलों के सदर अस्पतालों में 50 ट्रूनेट लगाने की प्रक्रिया चल रही है। अभी तक 20 ट्रूनेट मशीनें लगा दी गई हैं और 30 मशीनें जल्द ही लगा दी जाएंगी। एक ट्रुनेट मशीन से 12 घंटे में 48 सैंपलों की जांच हो पाएगी।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना