पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पलामू में तेज बारिश से सड़क बही:25KM अधिक दूरी तय कर लोगों को जाना पड़ रहा ब्लॉक मुख्यालय, सड़क काफी दिनों से थी जर्जर स्थिति में

​​​​​​​हैदरनगर (पलामू)7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क काफी जर्जर स्थिति में थी और तेज बारिश की वजह से वो बह गई। - Dainik Bhaskar
सड़क काफी जर्जर स्थिति में थी और तेज बारिश की वजह से वो बह गई।

हैदरनगर थाना के पंसा, बरडीहा होते हुए मोहम्मदगंज प्रखंड मुख्यालय को जोड़ने वाला मुख्य पथ तेज बारिश की वजह से बह गया। इससे करीब दो दर्जन गांव के लोगों का संपर्क मोहम्मदगंज प्रखंड मुख्यालय से कट गया। वहीं, बिहार जाने के लिए भी लोगों को अब लंबी दूरी तय करनी पड़ रही है। करीब 25 किलोमीटर अधिक दूरी तय कर लोगों को प्रखंड मुख्यालय जाना पड़ रहा है। सड़क काफी जर्जर स्थिति में थी और तेज बारिश की वजह से वो बह गई।

रात में हुई अधिक बारिश के कारण बुधवार को अचानक सड़क बह गई। इससे दो दर्जन से अधिक गांव के लोगों का आवागमन मोहम्मदगंज प्रखंड मुख्यालय जाने के लिए बंद हो गया है। यह सड़क पूर्व से भी काफी जर्जर थी। कई बार ग्रामीणों ने टूटे सड़क को पहले भी श्रमदान कर आवागमन को बहाल रखा था। किंतु किसी जनप्रतिनिधि द्वारा पंसा, बरडीहा, बिहरा मुख्य पथ को न तो बनवाने का संज्ञान लिया न ही पुलिया निर्माण का।

पंसा पंचायत की मुखिया अंजू देवी, मुखिया प्रतिनिधि अस्विनी कुमार सिंह के अलावा बरडीहा के ग्रामीणों ने कहा कि अब मोहम्मदगंज प्रखंड मुख्यालय जाने के लिए हम सभी को पंसा हैदरनगर भाया मोहम्मदगंज लगभग 25 किलोमीटर अधिक दूरी तय कर जाना पड़ रहा है। ग्रामीण क्षेत्र का यह रास्ता काफी उपयोगी था, जो पंसा, सुंडिपुर, पुल को जोड़ते हुए गढ़वा जिला के कांडी क्षेत्र में जाने के लिए काफी सुलभ था।

ग्रामीण क्षेत्र का यह रास्ता काफी उपयोगी था, जो पंसा, सुंडिपुर, पूल को जोड़ते हुए गढ़वा जिला के कांडी क्षेत्र में जाने के लिए काफी सुलभ था।
ग्रामीण क्षेत्र का यह रास्ता काफी उपयोगी था, जो पंसा, सुंडिपुर, पूल को जोड़ते हुए गढ़वा जिला के कांडी क्षेत्र में जाने के लिए काफी सुलभ था।

ग्रामीणों ने कहा कि हम किसानों को खाद्य बीज के साथ दवा के लिए मोहम्मदगंज प्रखंड मुख्यालय या हैदरनगर थाना मुख्यालय जाने के लिए भी सोचना पड़ रहा है। अगर किसी की तबीयत अधिक खराब हो जाए तो उसे हैदरनगर व मोहम्मदगंज ले जाने में काफी परेशानी झेलनी पड़ेगी। मरीज कभी भी सड़क नहीं होने के कारण रास्ते में ही दम तोड़ सकता है।

खबरें और भी हैं...