पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सेल्फी नहीं, जान जरूरी:डराते हैं आंकड़े... फॉल व डैम में डूबने से हर साल 30 से अधिक युवाओं की हो रही मौत

रांची12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • खतरा इसलिए... क्योंकि गहराई का अंदाजा नहीं और पत्थरों पर फिसलन के कारण मौत का शिकार बन रहे युवा
  • हुंडरू, दशम और जोन्हा फॉल में औसतन हर साल 18-20 लोगाें की डूबने से हो जाती है मौत
  • हर जगह नहीं हैं सुरक्षा के इंतजाम, न कोई जानकारी देने वाला बोर्ड कि आगे न जाएं खतरा है

कोरोना के कारण पांच महीने से बंद जलप्रपात और डैम एक बार फिर पर्यटकों के लिए खोल दिए गए हैं। इसके साथ ही यहां पहाड़ों से गिरते पानी की खूबसूरती को निहारने के लिए लाेगों खासताैर पर युवाओं के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। प्रमुख जलप्रपात हुंडरू, दशम और जोन्हा में भरपूर पानी नजर आ रहा है। अति उत्साह के कारण पानी में उतरकर नहाने और सेल्फी लेने के चक्कर में अक्सर यहां हादसे हाे रहे हैं। औसतन हर साल इन तीनों जलप्रपातों में 18-20 लोगाें की मौत डूबने से हो जाती है। वहीं रांची के हटिया डैम में भी हर साल करीब 12 लोगों की मौत डूबकर हो जाती है। फॉल और डैम में डूबने वालों में सबसे अधिक संख्या युवाओं की है।

खासतौर पर स्कूल और कॉलेज में पढ़नेवालों की। लापरवाही और चूक के कारण या तो वे ऊंचाई से गिर जाते हैं या पानी भरे गड्ढे और पत्थर में फंसकर अपनी जान गंवा बैठते हैं। रांची के धुर्वा डैम में कई जगहों में गहरे गड्ढे हैं। स्टूडेंट्स इन्हीं गड्ढों के शिकार बनते हैं। उन्हें पता नहीं चल पाता कि आगे कुछ ही दूरी पर गहरा पानी है। नहाने के चक्कर में वे गहरा पानी में चले जाते हैं और तैरना नहीं आने के कारण डूब जाते हैं। 12 सितंबर को ही कोकर के एक छात्र की कांची नदी में डूबने से मौत हो गई थी।

प्रशासन बेखबर... इसलिए भी हो रही मौत

दशम फॉल में झरने से पानी गिरने के बाद यहां की गहराई हर थोड़ी दूर पर बदल जाती है। इस कारण यहां डूबने की घटना पहले ज्यादा होती थीं। फिर भी हर साल 6 से 8 लोग डूबते हैं। प्रशासन ने खतरनाक स्पॉट को चिन्हित कर उसे कंटीले तारों से घेर वहां लाल झंडा लगा दिया। 25 पर्यटन मित्र तैनात रहते हैं। वहीं जोन्हा फॉल और हटिया डैम में सुरक्षा के इंतजाम नहीं हाेने से घटनाएं हो रही हैं, फिर भी प्रशासन को इसकी चिंता नहीं।

यहां पुलिस की भी न कोई सुरक्षा व्यवस्था रहती है और न ही कहीं कोई बोर्ड लगा मिलता है, जो चौकन्ना कर दे कि यह कि जाेन खतरनाक है। सावधानी बरतें। आगे न जाएं। लगातार हो रही मौतें से सबक लेते हुए जिला प्रशासन ने फॉल के आसपास के लोगों को गाइड के तौर पर तैनात किया है।

पर्यटन मित्र की भी नहीं सुनते लोग...

हुंडरू फॉल में इधर एक वर्ष में 5 लोगों की मौत हुई। यहां तैनात पर्यटक मित्र ने बताया कि जोगिया दाह, मंगतू मारा, भण्डारदाह और साहबचुपवा जैसे 5 खतरनाक स्पॉट चिन्हित किए गए हैं। यहां पर जाने की मनाही है। बोर्ड भी टंगा है। हमारे मना करने के बाद भी कई बार युवा इन खतरनाक स्पॉट में चले जाते हैं और दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं। कई पर्यटक नशा कर जबरन पानी में उतर जाते हैं।

धुर्वा डैम में एक दशक में 121 मौतें... फिर यहां सुरक्षा के कोई उपाय नहीं

धुर्वा डैम में सुरक्षा के कोई इंतजाम आज तक नहीं किये जा सके हैं। जबकि हर साल आठ से दस लोगों की इस डैम में डूबने से मौत हो रही है। पिछले एक दशक में 121 युवाओं की जिंदगियां डैम ने लील ली है। डैम में नहाने व मस्ती करने स्टूडेंट्स अपनी टोलियों में आते है और दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं।

अधिकतर युवा इसलिए डूब जाते है क्योंकि वे तैरना नहीं जानते। मेरे नेतृत्व में कई बार धुर्वा डैम में डूबने वाले युवकों को निकाला गया। बाद में पता चला कि वे तैरना नहीं जानते थे और दोस्तों के साथ नहाने के दौरान जोश में आगे बढ़ गए व डूब गए। -सरोज कुमार, इंस्पेक्टर, एनडीआरएफ

भास्कर अपील...

  • फॉल-डैम घूमने जाएं लेकिन सावधानी बरतें
  • तैरना नहीं जानते तो नहाने से बचें, आपकी जान कीमती है

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें