• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • School Education Department Is Going To Build The Largest Library Of The State In Morhabadi On The Land On Which Two Universities Are Claiming

डीएसपीएमयू विरोध में उतरा:स्कूली शिक्षा विभाग मोरहाबादी में उस जमीन पर बनाने जा रहा राज्य का सबसे बड़ा पुस्तकालय, जिस पर दो विवि कर रहे दावेदारी

रांची21 दिन पहलेलेखक: राकेश
  • कॉपी लिंक
  • अत्याधुनिक लाइब्रेरी की डीपीआर तैयार, पांच तल्ला बिल्डिंग में होंगी वैश्विक सुविधाएं

स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग मोरहाबादी कैंपस में राज्य की सबसे बड़ी लाइब्रेरी के लिए अत्याधुनिक बिल्डिंग का निर्माण कराएगा। पांच तल्ले में विश्वस्तरीय सुविधाएं होंगी। इधर, स्कूली शिक्षा विभाग जिस जमीन पर लाइब्रेरी का निर्माण कराने की तैयारी कर रहा है, उस पर आरयू और डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी यूनिवर्सिटी (डीएसपीएमयू) दोनों शुरू से अपनी दावेदारी जताते रहे हैं।

डीएसपीएमयू प्रशासन ने निर्माण का विरोध करने का निर्णय लिया है। बताते चलें कि दो एकड़ भूमि पर बननेवाली लाइब्रेरी बिल्डिंग का डीपीआर तैयार कर लिया गया है। नई लाइब्रेरी में 5000 छात्रों के बैठने की क्षमता होगी, लेकिन डीएसपीएमयू के रुख को देखते हुए बाधा उत्पन्न होने की आशंका बढ़ गई है।

सुविधाएं, हजारों किताब के साथ 5000 स्टूडेंट्स के बैठने की होगी क्षमता

नई लाइब्रेरी में जेनरल रीडिंग रूम, पीरियडिकल रीडिंग रूम, स्पेशल रीडिंग रूम, रिसर्च, स्टॉक रूम, ग्रुप स्टडी रूम, सेमिनार रूम, कॉन्फ्रेंस रूम, रिसर्च क्यूबिकल, एग्जिबिशन रूम, डिप्टी लाइब्रेरी रूम, लाइब्रेरियन रूम, टेक्निकल स्टॉफ रूम, एडमिनिस्ट्रेटिव स्टॉफ रूम, डिसप्ले स्पेस एट एंट्रेस, कैफेटेरिया, पार्किंग स्पेस समेत अन्य सुविधाएं शामिल हैं।

पुराना विवाद-आरयू और डीएसपीएमयू के बीच मोरहाबादी कैंपस को लेकर पुराना विवाद है। एक साल पहले दोनों विवि के बीच भूमि को लेकर हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ था, तब कब्जा लेने को लेकर डीएसपीएमयू के तत्कालीन रजिस्ट्रार बुलडोजर लेकर पहुंच गए थे।

डीएसपीएमयू ने पूछा- कहां है 110 एकड़ भूमि

रांची कॉलेज को अपग्रेड कर डीएसपीएमयू का दर्जा दिया गया था, तब रांची कॉलेज के नाम पर कागज में 110 एकड़ भूमि दिखाई गई थी। अब डीएसपीएमयू प्रशासन आरयू से पूछ रहा है कि उसकी 110 एकड़ भूमि कहां है?

विभागीय इंजीनियर ने दी थी जानकारी

विभागीय इंजीनियर ने रांची विवि के अधिकारी को फोन कर बताया था कि जिस भूमि पर लाइब्रेरी का भवन बनना है, उस भूमि पर डीएसपीएमयू की रजिस्ट्रार डॉ. नमिता सिंह भी दावा कर रहीं हैं। आप चाहें तो डॉ. नमिता से बात कर सकते हैं।

किसने क्या कहा

लाइब्रेरी निर्माण को लेकर उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बात हुई थी। भूमि हमारी है, जिसके कागजात है। -डॉ. मुंकुंद मेहता, रजिस्ट्रार आरयू

रांची कॉलेज को 110 एकड़ भूमि के आधार पर विवि का दर्जा दिया गया है। नैक निरीक्षण के समय भूमि कहां दिखाया जाएगा। -डॉ. अशोक नाग, अध्यक्ष टीचर एसो, डीएसपीएमयू

खबरें और भी हैं...