खतरा बरकरार:कोरोना की दूसरी लहर, कई राज्यों में तेजी से बढ़ रहे केस; सतर्क रहें, आगे आएं जांच कराएं

रांची2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना की जांच कराती महिला। - Dainik Bhaskar
कोरोना की जांच कराती महिला।
  • शहर में 4 से 5 दिनों में स्पेशल ड्राइव चलाकर होगी जांच

दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। मध्य प्रदेश और राजस्थान के कुछ शहरों में तो नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसे देखते हुए रांची जिला प्रशासन सर्तक हो गया है। प्रशासन अब कोरोना जांच की संख्या बढ़ाने की तैयारी में है।

खासकर छठ पूजा में शामिल होकर बिहार-यूपी से वापस लौटने वाले लोग कोरोना जांच कराएं, इसके लिए स्पेशल मास टेस्ट ड्राइव चलाया जाएगा। इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ. वीबी प्रसाद ने कहा कि कोरोना सिम्टम डेवलप होने में पांच-छह दिन का समय लगता है। ऐसे में चार-पांच दिनों में बड़े पैमाने पर टेस्ट ड्राइव चलाने की तैयारी है।

डीसी बोले- शहर के स्टैटिक सेंटरों पर हो रही मुफ्त में जांच

बिहार चुनाव के बाद रांची लौटे पुलिसबल की कोरोना जांच को लेकर प्रशासन टेस्टिंग ड्राइव चला रहा है। डीसी छवि रंजन ने दूसरे राज्य से वापस लौटने वालों से अपील की है कि स्टैटिक सेंटर के अलावा रिम्स व सदर अस्पताल में भी फ्री कोरोना जांच जरूर कराएं।

शहर में 8 स्थानों पर बने स्टैटिक सेंटर से भीड़ गायब

प्रशासन कोरोना जांच के लिए शहर के आठ स्थानों पर स्टैटिक सेंटर बनाया है। पहले इन सेंटरों में लाइन लगती थी, अब आने वालों की संख्या 30-40 तक ही सिमट गई है। रविवार को जिला स्कूल, प्राइमरी स्कूल कर्बला चौक, तरुण विकास विद्यालय चुटिया और उच्च बालिका विद्यालय के स्टैटिक सेंटर में इक्का-दुक्का लोग ही पहुंचे।

क्या है स्थिति

जिला स्कूल : शनिवार को महज 38 सैंपल कलेक्ट किए गए। रविवार को दिन के 1.30 बजे तक महज 10 सैंपल कलेक्ट हुए थे।

प्राइमरी स्कूल कर्बला चौक : रविवार को यहां दोपहर 1.45 बजे तक महज एक महिला कोरोना जांच कराने पहुंची थी।

तरुण विकास विद्यालय : यहां 2.05 बजे सैंपल देने के लिए कोई मौजूद नहीं था।
गर्ल्स स्कूल बरियातू : यहां दिन के 3.00 बजे सन्नाटा पसरा था।

खबरें और भी हैं...