फंड बढ़ाने की मांग / सत्ताधारी दल के ही स्टीफन बोले 25 लाख रुपए पर्याप्त नहीं, कोटा बढ़ाया जाए

Stephen of the ruling party said 25 lakh rupees is not enough
X
Stephen of the ruling party said 25 lakh rupees is not enough

  • प्रवासियों को मदद करने के लिए 25 लाख रु के कोटे को बढ़ाया जाए
  • अधिकांश विधायकाें ने अपने काेटे से प्रवासी मजदूराें काे मदद राशि भेजने की अनुशंसा की
  • कागजी जांच के कारण खातों में राशि भेजने का काम अब भी जारी

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 07:24 AM IST

रांची. राज्य के प्रवासी मजदूरों के खाते में विधायक कोष से मदद राशि भेजी जा रही है। अधिकतर विधायकों ने अपने कोष से 25 लाख रु तक की राशि मजदूरों के खाते में भेजने की अनुशंसा कर दी है, लेकिन कागजी जांच की वजह से सभी के खातों में राशि भेजने की प्रकिया अभी पूरी नहीं हो सकी है । मदद राशि के संबंध में भास्कर ने जब विधायकों से बात की तो अधिकतर ने यह कहा कि उन्होंने अपने कोटे की राशि की अनुशंसा कर दी है। अब जिला स्तर पर उप विकास आयुक्त के माध्यम से सत्यापन के बाद मजदूरों को राशि उनके खाते में सीधे भेजी जा रही है। हालांकि जिनका सत्यापन नहीं हो पा रहा, उन्हें राशि नहीं भेजी जा रही। इस मामले में झामुमो के वरीय नेता व महेशपुर विधायक स्टीफन मरांडी ने कहा कि उन्होंने अपने कोटे से 25 लाख रु से प्रवासी मजदूरों की मदद की अनुशंसा कर दी है, लेकिन यह राशि पर्याप्त नहीं है। इसलिए वे सीएम से आग्रह करेंगे कि 25 लाख रु के कोटे को बढ़ाया जाए।

प्रवासी के साथ स्थानीय गरीबों को भी मदद के लिए बढ़े हाथ 
कांग्रेसी विधायक नमन विक्सल काेनगाड़ी ने कहा कि उन्होंने प्रवासी मजदूरों के साथ ही स्थानीय स्तर पर अत्यंत गरीब परिवार को भी मदद के लिए पैसा देने की अनुशंसा की है। उन्होंने बताया कि 25 लाख रु के कोटे से भी ज्यादा राशि की अनुशंसा उन्होंने की है। इसमें 1485 प्रवासी मजदूर के साथ-साथ 295 स्थानीय गरीब लोग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि 25 लाख रु से ज्यादा की अनुशंसा इसलिए की गई है, क्योंकि कई प्रवासी मजदूरों ने अपना खाता न होने पर अपने साथ काम करने वाले मजदूर के खाते का नंबर दे दिया था। सत्यापन में उसे रद्द कर दिया गया। इसी तरह कुछ लोग अपना आधार कार्ड नहीं दे पाए।
आजसू पार्टी के विधायक डॉ लंबोदर महतो ने कहा कि उन्होंने प्रारंभिक दिनों में ही प्रवासी मजदूरों को भेजने के लिए 25 लाख रु रुपए की अनुशंसा कर दी। राशि कम पड़ने पर व्यक्तिगत रूप से भी पैसा भेजा। भाजपा नेता अनंत ओझा ने कहा कि उन्होंने भी मदद के लिए राशि की अनुशंसा कर दी है लेकिन 25 लाख रु रुपए की राशि कम है।

चंद्रवंशी ने 2500 ताे विकास मुंडा ने 700 के लिए ही अनुशंसा की 

भाजपा के सीनियर लीडर व पूर्व मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि उन्होंने पलामू व गढ़वा के 2500 मजदूरों को एक-एक हजार रु देने की अनुशंसा विधायक कोष की राशि से कर दी है। लोगों को काफी हद तक पैसा मिल भी गया है। झामुमो के विधायक विकास सिंह मुंडा ने कहा कि उन्होंने अब तक 700 मजदूरों के लिए ही अनुशंसा की है। अन्य लोगों की सूची तैयार की जा रही है। जामताड़ा विधायक डॉ. इरफान अंसारी ने कहा कि उन्होंने भी 2150 प्रवासी मजदूरों को राशि देने के लिए अनुशंसा डीडीसी को भेज दी है। 

जिला स्तर से मुख्यालय को नहीं भेजी गई खर्च हुई राशि की रिपोर्ट 

विधायक कोष से 25 लाख की राशि प्रवासी मजदूरों के खाते में भेजे जाने के मामले में ग्रामीण विकास विभाग के संबंधित अफसरों का कहना है कि विधायकों की अनुशंसा पर खर्च की गई राशि की रिपोर्ट जिला स्तर से मुख्यालय को नहीं भेजी गई है। उनका कहना है कि विशेष परिस्थिति में विधायक कोष से प्रवासी मजदूरों को देने का निर्णय हुआ है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना