अस्पतालों की व्यवस्था को दुरुस्त करने का मामला:हाईकोर्ट में बताया- जीनोम सिक्वेंसिंग सहित अन्य मशीनें जल्द खरीदने की चल रही है तैयारी

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोर्ट ने शीघ्र मशीन खरीदने का निर्देश देकर अवगत कराने को कहा

रिम्स सहित राज्य के अस्पतालों की व्यवस्था को दुरुस्त करने के मामले में झारखंड हाईकोर्ट में साेमवार काे सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान राज्य सरकार और रिम्स प्रबंधन की ओर से कोर्ट को जानकारी दी गई कि ओमिक्राॅन से निपटने को लेकर तैयारियां की जा रही हैं, जो लगभग पूरी होने वाली है। किसी भी परिस्थिति से निपटने को तैयार हैं।

कोर्ट ने राज्य सरकार सरकार और रिम्स प्रबंधन को आपस में बैठकर जांच मशीन की खरीदारी पर निर्णय लेने का निर्देश दिया है। शीघ्र मशीन खरीदने का भी निर्देश दिया है और अदालत को अवगत कराने को कहा है।

रिम्स में सीटी स्कैन मशीन लगाई जा चुकी है। कैथलैब भी शुरू किया जा रहा है। कई आवश्यक जांच मशीन भी खरीदी गई है, जिसे इंस्टॉल किया जा रहा है। जीनोम सिक्वेंसिंग मशीन खरीदने की तैयारी हाे रही है और अन्य मशीनों की खरीदारी की बात चल रही है। कोर्ट ने कहा कि सरकार और रिम्स प्रबंधन आपस में बैठकर आवश्यक जांच मशीन खरीदने पर निर्णय ले। कोर्ट चाहती है कि गरीब लोगों को कम पैसे में अच्छा इलाज मुहैया कराई जा सके।

जन औषधि केंद्र मामले में डायरेक्टर को लगाई फटकार : जन औषधि केंद्र के मामले में रिम्स डायरेक्टर के व्यवहार पर अदालत ने उन्हें कड़ी फटकार लगाई। डायरेक्टर ने कोर्ट से माफी मांगी। कोर्ट ने उन्हें माफ किया। वहीं, रिम्स में गरीबों को सस्ती दर पर दवा उपलब्ध कराने वाले जन औषधि केंद्र की बिंदू पर भी सुनवाई हुई।

रिम्स डायरेक्टर सुनवाई के दौरान हाजिर हुए। खंडपीठ ने उनके व्यवहार पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि आप इतने बड़े अधिकारी हैं, आपको पता होना चाहिए कि किस तरह से बातें की जानी चाहिए। डायरेक्टर ने कोर्ट से क्षमा मांगी। उसके बाद कोर्ट ने उन्हें क्षमा करते हुए उन्हें हाजिर होने से मुक्त कर दिया।

खबरें और भी हैं...