हत्या की प्लानिंग का खुलासा:कोयला काराेबारी की हत्या कर मगध माइंस में ठेका लेना चाहता था टीपीसी

रांची7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उग्रवादियों से एके-56, 3 पिस्टल, कैश जब्त। - Dainik Bhaskar
उग्रवादियों से एके-56, 3 पिस्टल, कैश जब्त।
  • 8 टीपीसी उग्रवादी गिरफ्तार, एके-56, 3 पिस्टल बरामद

कांके थाना क्षेत्र स्थित अरसंडे में काेयला काराेबारी बबलू सागर मुंडा पर गाेली चलाने वाले टीपीसी के 8 उग्रवादियाें काे पुलिस ने गिरफ्तार कर रविवार काे कोर्ट में पेश किया, जहां से सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। उग्रवादियाें से एक एके-56 हथियार, 3 पिस्टल, 10 गाेली, 1.62 लाख नगद, घटना में इस्तेमाल कार, बाइक समेत अन्य सामान जब्त किया गया है। उग्रवादियाें ने बताया है कि टीपीसी के सब-जाेनल कमांडर भीखन गंझू के इशारे पर ही काेयला काराेबारी बबलू सागर मुंडा की हत्या करने पहुंचा था। उसने ही एके-56 समेत अन्य हथियार और गाेली मुहैया कराया था। एडवांस में साढ़े पांच लाख कैश भी दिए थे।

यह भी बताया है कि मगध-आम्रपाली कोल प्रोजेक्ट में बबलू सागर मुंडा ने ठेका ले रखा है। काफी प्रयास के बाद भी वह भीखन गंझू की डिमांड काे पूरा नहीं कर रहा था। ऐसे में बबलू की हत्या कर मगध-आम्रपाली में संगठन के आदमी काे ठेका दिलाने का प्लान बना था। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि गिरफ्तार उग्रवादी इरफान अंसारी टीपीसी के सब-जाेनल कमांडर भीखन गंझू के लिए काम करता है। भीखन के इशारे पर इरफान कांके थाने के बाेड़ेया स्थित मिल्लत काॅलाेनी निवासी अफराेज अंसारी के घर पहुंचा।

जहां बबलू की हत्या की प्लानिंग बनाई। 28 सितंबर की शाम लातेहार के चंदवा से शूटर अब्दुल्ला आलम, अरशद अली और बालूमाथ निवासी एजाज अंसारी काे रांची स्थित अफराेज के घर बुलाया गया था। भीखन से एके-56 हथियार और 3 मैगजीन लेकर इरफान खुद अपनी स्काॅर्पियाे गाड़ी से रांची पहुंचा था। 29 सितंबर की शाम 6:45 बजे कार सवार उग्रवादियों ने मनाेज सागर मुंडा पर गाेली-बारी की थी।

वारदात में जिस सूमाे गाड़ी का इस्तेमाल किया गया था वह करमटोली स्थित एक गैरेज से भाड़े पर ली गई थी। पुलिस कार देने वाले गैराज मालिक मालिक गुड्डू तक पहंुची। उसने बताया कि गाड़ी उससे मैकेनिक इकरामुल अंसारी उर्फ लालू ने शादी में जाने के लिए भाड़े पर लिया था। इसके बाद मैकेनिक इकरामुल अंसारी काे पुलिस ने गिरफ्तार किया। इकरामुल ने पूरी घटना की जानकारी दी, जिसके बाद सभी काे गिरफ्तार किया गया।

शूटर अब्दुल्ला चला रहा था एके-56, ऐन वक्त पर मैगजीन नीचे गिरने से बची जान

शूटर अब्दुल्ला एके-56 से गाेली मारने के लिए बबलू की गाड़ी के समीप पहुंचा था। उसने ट्रिगर जैसे ही दबाया, मैगजीन खुलकर नीचे गिर गई। जिससे एके-56 नहीं चल सकी। हालांकि अन्य उग्रवादियों ने गाेली चलाई, जो बबलू के निजी बाॅडीगार्ड के अलावे गाड़ी में लगी थी।

सफेदपाेश बन भीखन के लिए काम करता है नीरज गंझू, पुलिस को तलाश

पूछताछ में पता चला है कि नीरज गंझू उर्फ नीरज भाेग्ता नामक व्यक्ति सफेदपोश बनकर जाेनल कमांडर भीखन के लिए काम करता है। नीरज अक्सर टंडवा में खदान साइट पर माैजूद रहता है और पल-पल की जानकारी भीखन काे देता है। उसकाे भी संगठन से कमीशन मिलता है। नीरज लातेहार में ही दिखावे के लिए कैटरिंग का काम करता है और एक राजनीतिक पार्टी से जुड़ा हुआ है। पुलिस उसकी तलाश में है।

गिरफ्तार उग्रवादी

  • इरफान अंसारी
  • अफरोज अंसारी
  • एजाज अंसारी
  • अरशद अली
  • अब्दुल्ला आलम
  • इकराम उल अंसारी
  • जसिम खान
  • मैनूल अंसारी

भीखन गंझू ने ही प्रेमसागर मुंडा की कराई थी हत्या

3 फरवरी 2020 काे बरियातू थाना क्षेत्र स्थित पार्क प्राइम हाेटल के पास हुए प्रेम सागर मुंडा हत्याकांड में भी गिरफ्तार उग्रवादी इरफान अंसारी और अफराेज अंसारी ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। टीपीसी के जाेनल कमांडर भीखन के इशारे पर ही इरफान अपने सहयाेगी अफराेज के साथ मिलकर प्रेमसागर को गाेली मारी थी। इस दाैरान अन्य 4 उग्रवादी उसके साथ माैजूद थे। प्रेमसागर और भीखन गंझू का पैसे के लेन-देन काे लेकर विवाद था। प्रेमसागर टीपीसी संगठन का पैसा गबन कर गया था, जिसके बाद उसकी हत्या की याेजना बनी थी। प्रेमसागर मुंडा हत्याकांड में शामिल अन्य उग्रवादियाें की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

खबरें और भी हैं...