यूपीएससी की तैयारी को लेकर सेमिनार:यूपीएससी परीक्षा की अपनी डिमांड... फोकस, टाइम मैनेजमेंट, राइटिंग स्किल र हार्ड वर्क करने वाले स्टूडेंट्स होते हैं सफल

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
2021 आईएएस टॉपर रहे शुभम कुमार। - Dainik Bhaskar
2021 आईएएस टॉपर रहे शुभम कुमार।
  • आईएएस राजीव रंजन, टॉपर शुभम और सिटी एसपी सौरभ बोले-

भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी राजीव रंजन ने कहा कि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी को लेकर अधिकतर अभ्यर्थियों में भ्रम की स्थिति बनी रहती है। शायद इसीलिए परीक्षा काफी कठिन लगती है। यूपीएससी की परीक्षा का एक अपना डिमांड है, जो इसे समझ लेता है उसके सफल होने की गुंजाइश बहुत अधिक हो जाती है। वे बुधवार को मोरहाबादी कैंपस स्थित आर्यभट्ट ऑडिटोरियम में आरयू और नेशनल एसोसिएशन ऑफ सिविल सर्विसेज की ओर से आयोजित सेमिनार में बोल रहे थे।

इस अवसर पर इस वर्ष आईएएस टॉपर रहे शुभम कुमार, ऑल इंडिया रैंक-7 प्रवीण कुमार, सिटी एसपी सौरभ समेत अन्य ने विचार रखे। यूपीएससी की तैयारी को लेकर टिप्स दिए। इससे पहले अतिथियों का स्वागत आरयू के डीएसडब्ल्यू डॉ. राजकुमार शर्मा ने किया। सिटी एसपी सौरभ ने कहा कि सही पुस्तकों का चयन और टाइम मैनेजमेंट अहम है। साथ ही कठिन परिश्रम जरूरी है। आरयू की वीसी प्रो. कामिनी कुमार ने कहा कि नेशनल एसोसिएशन फॉर सिविल सर्विसेज का यह प्रयास अनूठा है। संचालन रेडियो खांची के निदेशक डॉ. आनंद कुमार ठाकुर और डॉ. ब्रजेश कुमार ने किया।

एसोसिएशन ने 58 का मॉक इंटरव्यू कराया, 30 सफल
आईएएस राजीव रंजन ने बताया कि नेशनल एसोसिएशन ऑफ सिविल सर्विसेज पिछले वर्ष 58 अभ्यर्थियों का मॉक इंटरव्यू कराया था। इसमें से 30 यूपीएससी सफल रहे। झारखंड में भी मॉक इंटरव्यू शुरू किया जाना चाहिए।

सोशल मीडिया से थोड़ी सी दूरी है जरूरी

सही विषय के साथ सही किताबों का चयन करें। थोड़ी सी सोशल मीडिया से दूरी जरूरी है। ऑनलाइन मेटेरियल का उपयोग यूपीएससी ही नहीं बल्कि किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्रदान करने के लिए आवश्यक है।
-आईएएस टॉपर शुभम कुमार

परीक्षा के स्वभाव को समझना महत्वपूर्ण

परीक्षा के स्वभाव को समझना और तैयारी करना महत्वपूर्ण है। सिलेबस की पूरी जानकारी और पिछले सालों के प्रश्नों का जमकर अभ्यास सफलता के करीब ले जाता है। साथ ही कठिन परिश्रम जरूरी है। -यूपीएससी में सातवें स्थान प्राप्त प्रवीण कुमार

खबरें और भी हैं...