• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • When Traders Adamant On The Demand For Parking, The Corporation police Diverted The Upper Market Jam free Campaign Towards The Main Road.

व्यापारियों का आरोप:व्यापारी पार्किंग की मांग पर अड़े तो निगम-पुलिस ने अपर बाजार जाममुक्त अभियान को मेन रोड की ओर मोड़ा

रांची3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जुर्माना वसूल कर खानापूर्ति होती है, स्थाई समाधान करने की मंशा ही नहीं
  • शनिवार को मेन रोड में सड़क पर लगे वाहनों से वसूला जुर्माना

अपर बाजार काे जाम मुक्त करने के लिए हाईकोर्ट के आदेश का हवाला देकर रांची पुलिस और नगर निगम के अधिकारियों ने शुक्रवार काे जितनी सक्रियता दिखाते हुए करीब 100 वाहनों काे जब्त किया, अगर उतनी ही सक्रियता से वे अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते ताे अपर बाजार की सूरत ही बदल जाती। नगर निगम और ट्रैफिक पुलिस ने अपर बाजार को जाम मुक्त करने का अभियान शुक्रवार को शुरू किया था, जिसमें 44 वाहन जब्त किए गए थे। 122 वाहनों का 79300 रुपए का चालान काटा गया।

इससे गुस्साए व्यापारियों ने विरोध कर दिन के 1 से शाम 4 बजे तक दुकानें बंद कर दी थी। सभी व्यापारियों की एक ही मांग थी कि अपर बाजार में पहले पार्किंग की व्यवस्था की जाए। इसके बाद सड़क पर वाहन लगते हैं ताे कार्रवाई की जाए। स्थाई पार्किंग का मांग उठने के बाद निगम और ट्रैफिक पुलिस ने अपर बाजार को जाम मुक्त करने के अभियान को अब मेन रोड की ओर मोड़ दिया। शनिवार को मेन रोड में गाड़ियां जब्त की गईं।

झारखंड चैंबर के अध्यक्ष प्रवीण जैन छाबड़ा का कहना है कि व्यापारियाें और लोगों को डराना और धमकाना बंद होना चाहिए। जाम का स्थाई समाधान पार्किंग स्थल है, जिसकी व्यवस्था नहीं की जा रही है। प्रशासन पार्किंग की व्यवस्था करे, ताकि लाेग अपने वाहनाें काे लगा सकें। इसमें चैंबर पूरा सहयोग करेगा। अपर बाजार के व्यापारी अशोक पुरोहित ने बताया कि अपर बाजार को जाम मुक्त करने का एक ही उपाय पार्किंग स्थल बनाना है।

भास्कर पड़ताल 10 साल पहले बनी थी मल्टीलेवल पार्किंग बनाने की योजना, आज तक फाइल में ही बंद

बकरी बाजार काे विकसित करने का प्लान लागू हाेने से अपर बाजार पूरी तरह नाे व्हीकल जाेन बन जाता। क्योंकि, बकरी बाजार में मल्टीलेवल पार्किंग में 1500 वाहन लगाने की क्षमता हाेती। जालान राेड और अपर बाजार मुख्य सड़क की चाैड़ाई 10-10 फीट बढ़ जाती। इससे वाहनों का आवागमन आसानी से हाेता।

निगम ने बेच रखा था पार्किंग स्थल, अब यहां वाहनों की होगी पार्किंग
निगम ने बेच रखा था पार्किंग स्थल, अब यहां वाहनों की होगी पार्किंग

मल्टीलेवल पार्किंग बनती तो 1500 वाहन खड़े होते, अपर बाजार होता जाम मुक्त

एक दशक पहले ही अपर बाजार काे व्यवस्थित करने का प्लान बना था। नगर निगम के तत्कालीन सीईओ दीपांकर पंडा ने अपर बाजार स्थित नगर निगम की दुकानों काे ताेड़कर बाजार टांड में मार्केटिंग कांप्लेक्स बनाने और बकरी बाजार में एल शेप मार्केट के साथ पार्किंग बनाने की याेजना बनाई थी। लेकिन, यह याेजना फाइलाें में रह गई। इसके बाद डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय की पहल पर 2015 में तत्कालीन नगर आयुक्त प्रशांत कुमार ने भी बकरी बाजार की चार एकड़ जमीन में जालान राेड की ओर मार्केटिंग कांप्लेक्स और अंडरग्राउंड पार्किंग व उसके उपर गार्डेन बनाने की याेजना बनाई थी, लेकिन इस पर भी काम शुरू नहीं हुआ। जहां मार्केट और पार्किंग बनना था, वहां एक ओर पानी टंकी बन रहा, दूसरी ओर कूड़ा डंपिंग यार्ड बन गया और कबाड़ सिटी बसें सड़ रहीं हैं।