• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • X ray Machines Stopped In RIMS, Those Who Did Not Have Money, Their Treatment Stopped, The Workers Told That The Cassette Reader Of The Machine Which Is Fine Is Bad

भटक रहे मरीज:रिम्स में एक्सरे मशीनें ठप, जिनके पास पैसे नहीं उनका इलाज बंद, कर्मियों ने बताया जो मशीन ठीक है उसका कैसेट रीडर खराब

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक्सरे मशीन खराब होने के कारण विभाग खाली। - Dainik Bhaskar
एक्सरे मशीन खराब होने के कारण विभाग खाली।

रिम्स में एक्सरे मशीन खराब होने का खामियाजा तीन दिनों से रोगियों को भुगतना पड़ रहा है। रेडियोलॉजी विभाग में एक्सरे के लिए चार मशीनें लगी हैं, लेकिन इनमें से तीन मशीन खराब पड़ी हैं। जो मशीन ठीक है, उसका कैसेट रीडर खराब है।

स्टॉक में फिल्म नहीं होने के कारण मरीजों का एक्सरे नहीं हो पा रहा। तीन दिन में एक हजार से ज्यादा मरीज प्राइवेट में एक्सरे करा चुके हैं। बताते चलें कि रिम्स में लगे अधिकांश उपकरण आउटडेटेड हो चुके है। एक्सरे मशीनें भी काफी पुरानी हैं। हर दो-तीन माह में मशीन खराब हाे जाती है, जिसे बनाने में फिर महीनों लग जाते हैं। नतीजन मरीजों को न सिर्फ परेशान होना पड़ता है, बल्कि ज्यादा पैसे देकर प्राइवेट रेडियोलॉजी सेंटर का रुख कर जांच के लिए बाध्य होना पड़ता है।

फिल्म भी नहीं है स्टॉक में

एक्सरे विभाग के कर्मियों ने बताया कि विभाग में सिर्फ फिल्म ही खत्म नहीं है, एक्सरे की कैसेट रीड करनेवाली मशीन भी खराब पड़ी है। एक्सरे फिल्म उपलब्ध करा भी दी जाए, ताे मरीजों काे फायदा नहीं हाेगा, क्योंकि जब तक कैसेट रीडर ठीक नहीं होगा, तब तक रोगियों को निजी सेंटर से ही एक्सरे कराना हाेगा।

हार्ट में ब्लॉकेज, चेस्ट एक्सरे के लिए भटक रहे मरीज व परिजन

चतरा के मिथलेश राम ने कहा कि उनकी पत्नी तारा देवी का इलाज सीटीवीएस विभाग में डॉ. राकेश कुमार चौधरी कर रहे है। मरीज के हार्ट में ब्लॉकेज है। डॉक्टर ने चेस्ट एक्सरे कराने काे कहा है। लेकिन रिम्स में एक्सरे नहीं हो पा रहा है। डॉक्टर कहते हैं कि एक्सरे रिपोर्ट के बाद ही आगे इलाज हो पाएगा। पलामू के पांकी से एक और मरीज सीने में दर्द की शिकायत के बाद रिम्स आए हैं। डॉक्टर ने एक्सरे लिखा है। रेडियोलॉजी डिपार्टमेंट आने पर पता चला कि मशीन खराब है। वह बताता है कि गरीब आदमी है। इतने पैसे नहीं कि बाहर जाकर एक्सरे करा सके।

खबरें और भी हैं...