पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैरिकेडिंग:बालू की अवैध ढुलाई राेकने के लिए बोहटा नदी में बैरिकेडिंग

महुआडांड़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रोक के बावजूद बालू घाटों से हो रहे बालू की अवैध ढुलाई को लेकर उसपर अंकुश लगाने के लिए बुधवार को बोहटा नदी में चैनपुर पंचायत के मुखिया राजेश कुजूर के नेतृत्व में बोहटा बालू घाट समिति के द्वारा जेसीबी मशीन से बेरीकेटिंग की गई। इसकी जानकारी देते हुए चैनपूर पंचायत के मुखिया राजेश कुजूर ने बताया कि ये बेरीकेटिंग लातेहार जिला खनन पदाधिकारी आनंद कुमार एवं महुआडांड बीडीओ टुडू दिलीप के निर्देशानुसार किया गया है।

जिससे कि चोरी छिपे बालू उठाव पर रोक लग सके।अवैध बालू उत्खनन करने वाले बालु माफियाओं पर शिंकजा कसने को लेकर एक दिन पूर्व मंगलवार को लातेहार जिला खनन पदाधिकारी श्री आनंद कुमार महुआडांड पहुंच थे एवं महुआडांड बीडीओ सह सीओ टुडू दिलीप से महुआडांड प्रखण्ड क्षेत्र में एनजीटी की रोक के बाद भी बालू घाटों पर अवैध खनन कर हो रहे अवैध बालू उठाव पर अंकुश लगाने को लेकर काफी देर तक गहन विचार विमर्श भी किया गया था एवं साथ ही महुआडांड प्रखण्ड क्षेत्र स्थित बोहटा नदी, अक्सी नदी, सरनाडीह नदी, पोटमाडीह नदी आदि बालू घाट पर जाकर स्थल का भी निरीक्षण किये थे।

अन्य बालू घाटों पर भी बैरिकेडिंग की आवश्यकता
बोहटा नदी पर केवल बेरीकेटिंग भर किये जाने से महुआडांड प्रखण्ड में हो रहे बालू की अवैध ढुलाई पर पूरी तरह से अंकुश नही लग पायेगा। इसके लिए चटकपुर नदी, अक्सी नदी, सरनाडीह नदी, पोटमाडीह नदी, झिकम नदी, रामपुर नदी आदि के बालू घाट पर भी इसी तरह से बेरीकेटिंग किये जाने की है आवश्यकता है। साथ ही संबंधित पंचायत के जनप्रतिनिधियों को भी आगे आना होगा तब कहीं जाकर बालू की अवैध ढुलाई पर पूरी तरह से अंकुश लग पायेगा।

खबरें और भी हैं...