व्रत की शुरुआत:संतान की दीर्घायु के लिए माताएं रखीं जीउतीया व्रत

महुआडांड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

संतान की दीर्घायु व सलामती के लिए की जाने वाली जीउतीया निर्जला व्रत महुआडांड़ प्रखण्ड की माताओं ने बड़े हर्षोल्लास के साथ किया। महिलाओं ने 24 घंटे का निर्जला व्रत रखकर अपने पुत्रों की दीर्घायु की कामना की। पहले दिन महिलाएं बुधवार को नहाय-खाय के साथ व्रत की शुरुआत की।

अगले दिन गुरुवार को जीउतीया व्रत का पारण किया जाएगा। पुत्रों की सभी सुख प्राप्ति के लिए जीउतीया व्रत के दिन कुशा से निर्मित प्रतिमा को धूप-दीप, चावल, पुष्प आदि अर्पित की और पूजा अर्चना की। साथ ही मिट्टी व गाय के गोबर से चील और सियारिन की प्रतिमा बनाई। इसके माथे पर लाल सिंदूर का टीका लगाया गया।

खबरें और भी हैं...