पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Palamu
  • Payment Of Social Pension Stopped For Four Years, Permission For Suicide Sought From DC, Dharmendra Tiwari, A Resident Of Tolra Panchayat, Who Is 100% Disabled, Does Not Pay Attention To The Officer And The Panchayat Representative

कुदरत की मार पर भारी प्रशासन की बेरुखी:सामाजिक पेंशन का भुगतान चार साल से बंद, डीसी से मांगी खुदकुशी की इजाजत, शतप्रतिशत निःशक्त हैं तोलरा पंचायतवासी धर्मेंद्र तिवारी, अधिकारी और पंचायत प्रतिनिधि का नहीं है ध्यान

विश्रामपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जनता दरबार में ग्रामीणों की फरियाद सुनते पलामू उपायुक्त शशिरंजन। - Dainik Bhaskar
जनता दरबार में ग्रामीणों की फरियाद सुनते पलामू उपायुक्त शशिरंजन।
  • तोलरा पंचायत से 40किमी दूरी तय कर पेंशन के लिए आए थे धर्मेंद्र तिवारी
  • धर्मेंद्र ने उपायुक्त से कहा-पेंशन न मिलने से दाने-दाने को मोहताज

प्रखंड अंतर्गत तोलरा पंचायत मुख्यालय निवासी पूर्णतया निःशक्त व बेसहारा धर्मेंद्र तिवारी ने गांव के युवा समाजसेवी रोहित तिवारी के सहारे 40 किमी दूर जिला मुख्यालय स्थित समाहरणालय पहुंचकर डीसी शशिरंजन से मंगलवार को चार साल से बंद सामाजिक पेंशन भुगतान कराने की गुहार लगाई। हाथ- पांव से पूर्णतः बेकार होने से मुफलिसी में किसी तरह गुजर-बसर कर रहे शतप्रतिशत दिव्यांग धर्मेंद्र को मिलने वाली मासिक सामाजिक पेंशन एक बड़ा सहारा रहा है । लेकिन जुलाई 2017 से बिना कोई कारण बताए अचानक पेंशन बंद होने से उसकी दो जून की रोटी पर भी आफत आन पड़ी है।उन्होंने डीसी को दिए अपने आवेदन में दिव्यांग पेंशन बंद होने से भुखमरी की उत्पन्न हालत का जिक्र करते हुए अपनी शारीरिक व मानसिक कष्ट से तत्काल निजात दिलाने का आग्रह किया है।अन्यथा विवश धर्मेंद्र ने आत्महत्या की उनसे लिखित रूप से इजाजत मांगी।

उपायुक्त ने लंबित पेंशन के जल्द से जल्द भुगतान का अधिकारी को दिया निर्देश

धर्मेंद्र की निशक्तता की हालत देख डीसी ने संबंधित अधिकारी से लंबित दिव्यांग पेंशन राशि का अविलंब भुगतान सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। विदित हो कि धर्मेंद्र तिवारी पूर्णतया निशक्त व चलने- फिरने से लाचार हैं । किसी के कंधे के सहारे ही उनकी दैनिक दिनचर्या भी चलती है। उन्होंने कातर स्वर में अपनी व्यथा सुनाते हुए बताया कि विश्रामपुर प्रखंड कार्यालय का दर्जनाधिक बार सामाजिक पेंशन भुगतान के लिए चक्कर लगाया है।पर किसी ने उनकी फरियाद नहीं सुनी । कुदरत की मार से लाचार बुजुर्गावस्था में पहुंचे धर्मेंद्र तिवारी का इस दुनिया मे अपनों के नाम पर एक बूढ़ी विधवा मां का सहारा भर मिला है।

4 साल से बंद पड़ी थी पेंशन, जनता दरबार में मिली राहत, चेहरे पर आई मुस्कान

उपायुक्त शशि रंजन ने मंगलवार को अपने कार्यालय कक्ष में जनता दरबार लगाया।इसमें जिले के विभिन्न प्रखंडों से बड़ी संख्या में लोग अपनी शिकायत लेकर पहुंचे जिसमें महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल थीं। उपायुक्त ने लोगों की समस्याओं को सुना और संबंधित विभाग के अधिकारी पत्र अग्रसारित कर 15 दिनों के भीतर निष्पादन करने को लेकर निर्देशित किया।विश्रामपुर से आये धर्मेंद्र तिवारी ने उपायुक्त को बताया कि उनका दिव्यांगता पेंशन पिछले 4 साल से बंद पड़ी है अतः उन्होंने उपायुक्त से अपनी बंद पेंशन दोबारा प्रारंभ करवाने हेतु अनुरोध किया।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...