पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

त्यौहार:आज से शारदीय नवरात्र, छिन्नमस्तिका मंदिर में साधकों के लिए विशेष तैयारी

रजरप्पा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूरे नवरात्र में चार सर्वार्थसिद्धि योग, एक त्रिपुष्कर और चार रवि योग बनेंगे, जमीन में निवेश, खरीद-बिक्री के लिए शुभ है ये संयाेग

शारदीय नवरात्र बेहद खास संयोगों के साथ शनिवार से शुरू हो रहा है। पहले दिन चित्रा नक्षत्र रहेगा। जबकि पूरे नवरात्रि में चार सर्वार्थसिद्धि योग, एक त्रिपुष्कर और चार रवि योग बनेंगे। इन शुभ संयोगों के अलावा आनंद, सौभाग्य और धृति योग भी बन रहा है। ये शुभ संयोग जमीन में निवेश, खरीद और बिक्री के लिए बेहद शुभ माने जाते हैं। इस प्रकार इस वर्ष 9 दिनों तक होने वाले शारदीय नवरात्र के दौरान भक्तों पर माता दुर्गा की असीम कृपा बरसेगी। इधर, नवरात्र पर छिन्नमस्तिका मंदिर में कोविड-19 को लेकर जिला प्रशासन द्वारा दिए गए गाइडलाइन के अनुसार विशेष तैयारी की गई है।

साधना और हवन के लिए लिए झारखंड सहित बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिसा, छत्तीसगढ़ सहित देश के कई कोने से साधु संत और साधक यहां पहुंचकर नौ दिनों तक साधना व पाठ करते है। न्यास समिति के सचिव शुभाशीष पंडा ने बताया, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ साधकों को ठहरने के लिए बिड़ला धर्मशाला, कुमुद प्रीता ट्रस्ट और अन्य धर्मशालाओं में व्यवस्था की गई है।

सुबह 7.46 से 9.12 बजे तक कलश स्थापन का मुहूर्त
शनिवार को कलश स्थापना प्रातः सात बजकर 46 मिनट से नौ बजकर 12 मिनट करना सबसे अच्छा रहेगा। इस दिन अभिजीत मुहूर्त 11 बजकर 38 मिनट से दोपहर 12 बजकर 26 मिनट तक होगा। यह भी अच्छा समय है।''
असीम पंडा,पुजारी, छिन्नमस्तिका मंदिर, रजरप्पा।

मंदिर में विद्युत सज्जा और फूलों की सजावट नहीं होगी
शारदीय नवरात्र को लेकर छिन्नमस्तिका मंदिर प्रक्षेत्र का साफ सफाई तो पूरी कर ली गई है, परंतु कोरोना वायरस संक्रमण और जिला प्रशासन के गाइडलाइन के कारण इस वर्ष विद्युत सज्जा व फूलों की सजावट नही होगी।''
लोकेश पंडा,पुजारी, छिन्नमस्तिका मंदिर, रजरप्पा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें