हादसे की जानकारी देगा आई रेड एप:रोड एक्सीडेंट की जानकारी आम लोगों तक पहुंचाने की पहल की गई शुरू

रामगढ़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मीटिंग में प्रोजेक्टर पर  एप की जानकारी देते डीआरएम। - Dainik Bhaskar
मीटिंग में प्रोजेक्टर पर एप की जानकारी देते डीआरएम।

भारत सरकार की मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे ने आईआईटी चेन्नई की आई रेड एप (इंटीग्रेटेड रोड एप्लीकेशन डाटाबेस) के साथ मिलकर सड़क दुर्घटनाओं की जानकारी लोगों तक पहुंचाने की पहल की है। इसके लिए रामगढ़ जिले के हेड क्वार्टर डीएसपी संजीव कुमार मिश्रा को प्रोग्राम नोडल ऑफिसर बनाया गया है। उनके द्वारा ही रामगढ़ जिले में हर सड़क दुर्घटना की सूचनाएं एप में अपडेट की जाएगी।

इसे लेकर शुक्रवार को जिला पुलिस मुख्यालय में मीटिंग के दौरान सभी पुलिस अधिकारियों को ऐप से अवगत कराया गया। यहां, प्रोग्राम के डीआरएम उपेंद्र प्रसाद ने एसपी, डीएसपी और सभी थाना प्रभारियों को विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे के निर्देश पर यह ऐप तैयार किया गया है। इस ऐप में पुलिस, ट्रांसपोर्ट से जुड़े अधिकारी जैसे डीटीओ, एमवीआई, हाईवे के अधिकारी और हॉस्पिटल के प्रभारी सिविल सर्जन दुर्घटनाओं से संबंधित जानकारी अपडेट करेंगे। बताया कि सड़क दुर्घटनाओं में सबसे पहले पुलिस पहुंचती है।

अत्यधिक दुर्घटना वाले क्षेत्रों की होगी समीक्षा
रामगढ़ चारों ओर पहाड़ियों से घिरा है। इन घाटियों में दुर्घटनाएं होती रहती हैं। इसकी लोगों तक नहीं पहुंच पाती है। अब आई रेड एप पर दुर्घटना की सूचना और पूरी जानकारी लोगों को उपलब्ध होगी। ऐप के माध्यम से हाईवे पर कौन सा स्थान एक्सीडेंटल जोन है।

खबरें और भी हैं...