झारखंड से बिहार-बंगाल तक मातम:धनबाद सड़क हादसे में मरने वाले पिता-पुत्र टाटा स्टील के कर्मचारी,शादी में शामिल होने जा रहा था  पूरा परिवार

घाटोटांड़ (रामगढ़)6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धनबाद में सड़क दुर्घटना के शिकार हुए शकील अहमद और उनकी पत्नी रविबुन खातून। - Dainik Bhaskar
धनबाद में सड़क दुर्घटना के शिकार हुए शकील अहमद और उनकी पत्नी रविबुन खातून।

धनबाद में NH-2 नई दिल्ली-हावड़ा रोड पर हुए सड़क हादसे का शिकार हुआ परिवार शादी समारोह में हिस्सा लेने पश्चिम बंगाल जा रहा था। दुर्घटना में मरने वाले शकील अहमद (57) और बड़ा बेटा वसीम अहमद (30)टाटा स्टील वेस्ट बोकारो डिवीजन में कार्यरत थे। दोनों पर घर की पूरी जिम्मेदारी थी।

पूरा परिवार रामगढ़ के 12 नंबर चौक मस्जिद के पीछे घाटोटांड पीएस मांडू, बारूघुटु में रहता था। यह परिवार मूल रूप बिहार के छपरा जिले के बसाही गाँव का रहने वाले थे। हादसे का शिकार होने रविबुन खातून(55) खलिया खातून 25 (गुड़िया) आयान (03) भी शामिल हैं।

घटना की सूचना जैसे ही बारुघुट्टू मध्य के मुखिया रणधीर सिंह को मिली तो उन्होंने तत्काल घाटो गुरुद्वारा के परिवार के घर पर शकील अहमद के छोटे पुत्र जाहिद अहमद को दी। जाहिद तुरंत गोविंदपुर के लिए निकल गया।

वसीम अहमद शकील का बेटा
वसीम अहमद शकील का बेटा

इधर घटना की सूचना मिलते ही झारखंड के रामगढ़़ से बिहार के छपरा व पश्चिम बंगाल के आसनसोल तक मातम छा गया। रामगढ़ में शकील के घर पर लोगों का आना शुरू हो गया। घर में अब शकील का छोटा बेटा जाहिद बचा है। जाहिद की एक बहन भी है उसकी शादी हो चुकी है।

खालिया खातून वसीम की पत्नी।
खालिया खातून वसीम की पत्नी।

पंद्रह दिनों की छुट्‌टी पा जा रहा था परिवार
जाहिद अहमद ने बताया कि मंगलवार की सुबह मेरे पापा शकील अहमद, माँ रविबुन खातून, भईया वसीम अहमद, भाभी खलिया खातून और वसीम भईया का बेटा आयान आसनसोन जाने के लिए निकले थे। परिवार सुबह चार बजे घर से रवाना हुआा

यान वसीम का बेटा।
यान वसीम का बेटा।

था।

सभी चार शादियों में शामिल होने के लिए पंद्रह दिनों की छुट्टी पर गए थे। बताया कि सभी शव को पोस्टमार्टम के बाद बिहार ले जाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...