पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिन्दी दिवस:भाषा हमें भावनात्मक इकाई में बांधती है : करमचंद महतो

रामगढ़9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

विनोबा भावे विश्वविद्यालय से अंगीभूत रामगढ़ महाविद्यालय रामगढ़ के इंटर सेक्शन में धूमधाम से हिन्दी दिवस मनाया गया। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना से सीनू कुमारी, नेहा, प्रिया और रूपाली प्रसाद ने की। मौके पर वक्ताओं ने हिन्दी विषय एवं भाषा पर विशेष बल दिया। वक्ता के रूप में करमचन्द कुमार महतो ने भाषा की विशेषता बतलाते हुए कहा कि हिन्दी हमारी आन-बान और शान है। देश, भौगोलिक ईकाई को व्यक्त करता है।

जबकि, भाषा संभ्यता, संस्कृति और भावनात्मक ईकाई को एकता के सूत्र में बांधने का कार्य करती है। मो. सलमान ने हिन्दी भाषा को जनसंचार एवं सुलभ अभिव्यक्ति का माध्यम बताया। शिक्षिका कविता हिन्दी को मातृभाषा कहा एवं इसे अधिक से अधिक प्रयोग एवं व्यवहार में लाने की बात कही। शिक्षिका नीलम ने हिन्दी की उपयोगिता पर बल दिया। इन्द्रमनी ने हिन्दी भाषा को जीवन की आत्मा बताया। छात्र नवीन और छात्रा रूपाली प्रसाद ने भी अपने विचार प्रस्तुत किए। मौके पर शिक्षिका कविता, रूणा मित्रा, माधुरी और सोनू, नेहा आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...