सतर्क रहें:हजारीबाग एरिया के 30 से ज्यादा सीसीएल अधिकारी पॉजिटिव, सभी होम क्वॉरेंटाइन

घाटोटांड़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीसीएल जीएम कार्यालय चरही। - Dainik Bhaskar
सीसीएल जीएम कार्यालय चरही।
  • कार्यालयों में आम दिनों की तरह चल रहा काम, गाइडलाइन का नहीं हो रहा पालन

हजारीबाग चरही प्रक्षेत्र के दर्जनों सीसीएल अधिकारी कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। ये वो अधिकारी हैं, जो प्रक्षेत्र के विभिन्न परियोजनाओं में कार्यरत हैं, जिसमें चरही कार्यालय, तापिन, परेज, बसंतपुर, केदला और जेओसीपी के अधिकारी शामिल हैं। यहां कार्यरत करीब 30 से ज्यादा अधिकारी संक्रमित हो चुके हैं। ये सभी जांच रिपोर्ट आने के बाद परिवार समेत होम कोरेण्टाइन हो चुके हैं।

घर में किसी का आना जाना बंद है। डयूटी ऑफ कर घर पर ही इलाज कर रहे हैं। लेकिन संक्रमित वाला लक्षण इन अधिकारियों को 2 जनवरी से ही दिखाई दे रहा था पर इन्होंने इसे हल्के में ले लिया। तबियत खराब रहने के बावजूद यह कार्यालयों में काम करते रहे। इनसे बिना मास्क के कई लोग संपर्क में भी आये हैं। मगर तबियत 5 जनवरी तक ठीक नही हुई तो यह बारी बारी से अपना कोविड 19 की जांच कराने मांडू, घाटो, रामगढ़ व चरही भाग रहे हैं।

इधर 6 से 7 जनवरी को 30 अधिकारी की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जो लोग भी इनके संपर्क में आए हैं उन्हें भी इसका डर सता रहा है। वहीं आधे अधिकारी बैगर जांच के ही डयूटी से गायब हो गए हैं। कर्मियों को छोड़कर अधिकारी तबका कार्य स्थल पर नही दिखाई पड़ रहे हैं। इधर जिला प्रशासन भी इनके कार्य पर हस्तक्षेप नही करता जिसकी वजह से गाइडलाइन का पालन नही हो रहा है। अगर प्रशासन का हस्तक्षेप हो तो ऐसी लापरवाही पर लगाम लगाया जा सकता है।

31 दिसंबर की पार्टी में जुटे थे सीसीएल के तमाम अधिकारी

सीसीएल हजारीबाग एरिया की विभिन्न परियोजनाओं में कार्यरत अधिकारी 31 दिसंबर को चरही ऑफिसर क्लब में आयोजित पार्टी में परिवार समेत शामिल हुए थे। इसमें जीएम, एसओपी, पीओ, मैनेजर, अंडर मैनेजर, डॉक्टर आदि ग्रेड के अधिकारी पार्टी में अपनी पत्नियों और बाल बच्चों के साथ 31 सेलिब्रेट किया। पार्टी में हर तरह के लजीज पकवान और शराब के साथ-साथ डीजे की भी व्यवस्था थी, जिसमें सभी ने धूम मचाया। इसके बाद धीरे धीरे अधिकारी संक्रमित होते चले गए।

कोरोना से निपटने के लिए अपटूडेट नहीं है प्रक्षेत्र का अस्पताल
सीसीएल हजारीबाग एरिया में अपने कर्मियों की कोरोना जांच के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। यहां टेंडर और अन्य कामो के लिए बेधड़क बाहर से लोग आते है। किसी की थर्मल स्कैनिंग और सैनिटाइजेशन की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। इसके अलावा कोरोना संक्रमित के लिए प्रक्षेत्र की कोई भी अस्पताल अपटूडेट नही की जा सकी है। अगर जल्द ही सीसीएल जीएम कार्यालय में कोरोना के रोकथाम और न्यू ईयर पार्टी में शामिल संक्रमित लोगों की हिस्ट्री निकाल कर जांच नही कराई गई तो आस-पास के क्षेत्र में कोरोना संक्रमण को रोक पाना असंभव हो जाएगा।

रामगढ़ में कोरोना जांच में मिले 83 मरीज, 14 हुए ठीक, एक्टिव केस 551
जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को सैंपल जांच के दौरान जिले में कोरोना के 83 नए केस मिले हैं। वहीं इलाज के दौरान 14 संक्रमित ठीक हुए हैं। नये संक्रमितों में मांडू में 20, पतरातू तेरह, रामगढ़ 44 और गोला प्रखंड के छह संक्रमित शामिल हैं। अब जिले में 551 कोरोना के केस एक्टिव हो गए हैं। नए संक्रमितों के मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग संकमितों को अस्पताल में एडमिट कराने के प्रयास में खोजबीन जारी कर दी है। अभी वर्तमान में सबसे ज्यादा मांडू में कोरोना के 312 संक्रमित, रामगढ़ 144, पतरातू 76, गोला 10 और चितरपुर प्रखंड में नौ कोरोना संक्रमित हैं।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...