धर्म-समाज / सुबह 3 बजे से शुरू हुई पूजा, सुहागिनाें ने वट वृक्ष की 108 परिक्रमा कर पति की दीर्घायु के लिए बांधा रक्षा सूत

Pooja started from 3 am in the morning.
X
Pooja started from 3 am in the morning.

  • लॉकडाउन के कारण सुबह जल्दी शुरू हुई पूजा, इस दौरान महिलाओं ने किया सोशल डिस्टेंस का पालन

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:46 AM IST

रामगढ. सुहागिन महिलाओं ने वट वृक्ष (बरगद का पेड़) के नीचे पूजा-अर्चना कर परिवार की सुख-समद्धि और अखंड सौभाग्य की कामना की। वहीं, ब्राह्मणों ने पूजा कराने के बाद सावित्री व सत्यवान की कथा सुनाई। लॉकडाउन के कारण गुरुवार की देर रात्रि 3 बजे से लेकर शुक्रवार की दोपहर तक सुहागिनों ने वट वृक्षों की पूजा की। इस दौरान कई जगहों पर महिलाओं में सोशल डिस्टेंसिंग दिखी और मास्क लगाकर पूजा भी की। पुजारी मुरारी शर्मा ने महिलाओँ के बीच मास्क बांटा। वहीं, भीड़ से बचने के लिए महिलाओं ने सुबह ही पूजा कर ली । हालांकि, पूजा स्थल पर पुलिस पहुंच कर महिलाओं को भीड़ नहीं लगाने की बात कही। महिलाओं ने सात प्रकार के अनाज रखकर उसके ऊपर ब्रह्मा और ब्रह्म सावित्री और सत्यवान व सावित्री की प्रतिमा रखकर पूजा की। वहीं, यम देवता की भी पूजा की गई। पूजा के बाद महिलाओं ने वटवृक्ष की परिक्रमा कर 108 सूत लपटी और उसके बाद जल अर्पण की। सुहागिनों ने अखंड सुहाग के लिए अपने पति की दीर्घायु और परिवार की समृद्घ की कामना की।महिलाओं ने एक-दूसरे को सिंदूर लगाया और परिवार की बुजुर्ग महिला का आशीर्वाद लिया। सुहागिनों ने पूजन के बाद पति के पैर धोए और तिलक लगाकर कलाई में रक्षा सूत बांधा। वहीं, आशीर्वाद लेकर प्रसाद ग्रहण किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना