धरना प्रदर्शन:रेलवे ने साजिश के तहत बदला रूट : ममता देवी

रामगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजधानी-चोपन एक्सप्रेस के रूट बदलने पर किया प्रदर्शन

रेलवे विभाग द्वारा राजधानी व चोपन एक्सप्रेस का बरकाकाना मार्ग से परिचालन बंद किये जाने के विरोध में रामगढ़ चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के आह्वान पर विभिन्न राजनीतिक व सामाजिक संगठनों के साथ एडीआरएम कार्यालय के समक्ष मंगलवार को धरना दिया।

धरना में मुख्य रूप से स्थानीय विधायक ममता देवी शामिल हुई। चैंबर अध्यक्ष पंकज तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित धरना के बाद सदस्यों ने एडीआरएम कार्यालय में ज्ञापन भी सौंपा। धरना को संबोधित करते हुए चैंबर अध्यक्ष पंकज तिवारी ने कहा कि राजधानी व चोपन एक्सप्रेस का बरकाकाना मार्ग से परिचालन बंद कर रेलवे ने रामगढ़ की जनता की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है। दो सैन्य छावनी सहित कई बड़े उद्योग-धंधे होने के बावजूद दोनों ट्रेनों का मार्ग बदलकर लोहरदगा-टोरी मार्ग कर दिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

इस मांग को लेकर बोलो रामगढ़ के तहत चैंबर द्वारा विगत पंद्रह दिनों से अभियान चलाया जा रहा है। रेलवे मंत्री, सांसद, विधायकों व आला अधिकारियों को बारंबार पत्राचार किये जाने के बावजूद मांगों को अनदेखी की जा रही है। अगर दोनों ट्रेनों का परिचालन पुन: बरकाकाना मार्ग से नहीं किया गया, तो 15 को शहर में मशाल जुलूस व 16 दिसंबर को रामगढ़ बंद का आह्वान किया जाएगा, जिसकी जिम्मेवारी रेलवे की होगी। धरना में मंच संचालन अरुण कुमार राय व धन्यवाद ज्ञापन अमित सिन्हा ने किया।

वहीं, धरना को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि रामगढ़ विधानसभा के रामगढ़ विधायक ममता देवी ने कहा कि रेलवे द्वारा साजिश के तहत राजधानी एक्सप्रेस व रांची चोपन एक्सप्रेस को बंद किया गया है। जबकि रामगढ़ क्षेत्र के व्यावसायिक वर्ग के लोगों को राजधानी एक्सप्रेस से कई तरह की सुविधाएं होती थी। सैन्य छावनी होने के कारण सेना के जवानों को भी राजधानी एक्सप्रेस का लाभ मिलता था। वहीं रेलवे को भी अच्छा खासा राजस्व मिलता था। लेकिन दोनों ट्रेनों का मार्ग बदला जाना जनभावनाओं के साथ खिलवाड़ है।

धरना में मुख्य रूप से चैंबर सचिव भूपेंद्र सिंह पप्पू, नगर परिषद अध्यक्ष योगेश बेदिया, चैंबर सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष विनय अग्रवाल, जैन युवा संघ के राहुल जैन, मनोज चतुर्वेदी, विष्णु पोद्दार, इंद्रपाल सिंह छाबड़ा , अशोक कुमार सिंह, नंदकिशोर गुप्ता, इंद्रपाल सिंह सैनी, मुरारी लाल अग्रवाल, परमजीत सिंह,संजीत सिंह,अखिलेश सिंह, राजेश कुमार , अमित साहू , शशि गुप्ता,आनंद गुप्ता ,मृत्युंजय केसरी , चुनचुन राय , चंद्रशेखर अग्रवाल,कमल शर्मा ,बलराम साहू ,रवींद्र साहू रवींद्र शर्मा,धनंजय कुमार, अनमोल सिंह संजीत सिंह आदिवासी छात्र संघ के अध्यक्ष सुनील मुंडा, कमलेश्वर सिंह, अरूण अग्रवाल, संवेदक संघ के विभन सिंह , कृष्णा प्रसाद अग्रवाल सहित कई लोग शामिल थे।

खबरें और भी हैं...