अधिवक्ता संघ चुनाव रामगढ़:3 घंटे देरी से वोटिंग, 94.4% मतदान, आनंद अग्रवाल बने बार एसोसिएशन के अध्यक्ष, 59 वोटाें से प्रमोद कुमार सिंह को हराया

रामगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चुनाव जीतने के बाद विजयी मुद्रा में अध्यक्ष आनंद अग्रवाल और अन्य। - Dainik Bhaskar
चुनाव जीतने के बाद विजयी मुद्रा में अध्यक्ष आनंद अग्रवाल और अन्य।
  • चुनाव समिति के अध्यक्ष रेशम लाल साव, सहयोगी चुनाव पदाधिकारी ओमप्रकाश सिन्हा और अनुज कुमार सिन्हा की देखरेख में सुबह 10 बजे के बदले दोपहर 1 बजे से मतदान हुआ, संघ के 393 में से 371 सदस्यों ने वोट डाले।
  • बार एसोसिएशन के सत्र 2021-23 का शाम 6 बजे तक चला मतदान
  • शाम 7 बजे से मतगणना, रात 10 बजे अध्यक्ष का परिणाम

जिला अधिवक्ता संघ के सत्र 2021-23 का चुनाव दो पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में शनिवार को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ। चुनाव में 393 अधिवक्ताओं में 371 अधिवक्ताओं ने मत का प्रयोग किया, यानी 94.40% वोट पड़े। तीन घंटे विलंब से मतदान आरंभ होने के बावजूद अधिवक्ताओं में उत्साह देखा गया। दोपहर एक बजे से शाम 6 बजे तक मतदान के बाद चुनाव पदाधिकारी रेशम लाल साव, ओमप्रकाश सिन्हा व अनुज सिन्हा की देखरेख में मतगणना की गई। जिसमें लगातार दूसरी बार अध्यक्ष पद पर आनंद अग्रवाल, उपाध्यक्ष झलकदेव महतो और महासचिव सीताराम चुने गये। अध्यक्ष पद के दावेदार आनंद अग्रवाल को सर्वाधिक 208 मत मिले। जबकि अध्यक्ष पद के दूसरे दावेदार प्रमोद कुमार सिंह का 149 और मुनेश्वर महतो को मात्र 11 वोट मिले। वहीं कोषाध्यक्ष पद पर हरखनाथ महतो, संयुक्त सचिव प्रशासन पद पर प्रकाश रंजन, संयुक्त सचिव पुस्तकालय पद पर शंभू तिवारी, सह कोषाध्यक्ष धनंजय प्रसाद यादव के अलावे कार्यकारिणी सदस्य सुबोध कुमार पांडेय, द्वारिका प्रसाद,राजू कुमार, मो इसरार, राजेंद्र महतो, मो मुईन अहमद, ज्योति कुमारी, योगेश चंद्र पांडेय व सतीश कुमार पाठक निर्वाचित हुए। चुनाव परिणाम की घोषणा के बाद निर्वाचित पदाधिकारियों व प्रत्याशियों को समर्थकों ने माला पहनाया।

393 अधिवक्ताओं में 371 ने डाले वोट

जिला अधिवक्ता संघ ( बार एसोसिएशन ) के सत्र 2021-23 का चुनाव पुलिस बल व दंडाधिकारी की मौजूदगी में शनिवार को अधिवक्ता संघ परिसर में चुनाव समिति के अध्यक्ष रेशम लाल साव व सहयोगी चुनाव पदाधिकारी ओमप्रकाश सिन्हा और अनुज कुमार सिंन्हा के देख-रेख में संपन्न हुआ। चुनाव निर्धारित समय के अनुसार सुबह दस बजे आरंभ होना था। लेकिन कुछ चुनाव सामग्री के समय पर नहीं पहुंचने की वजह से मतदान निर्धारित समय से तीन घंटे विलंब से आरंभ हुआ। दोपहर एक बजे से मतदान शाम 5.30 बजे तक चला। जिसमें पहला वोट अधिवक्ता वंशीधर गोप ने दिया। चुनाव संबंधी जानकारी देते हुए चुनाव समिति के अध्यक्ष रेशम लाल साव ने बताया कि मतदान में 393 अधिवक्ताओं में 371 ने अपने मत का प्रयोग किया। मतदान की प्रकिया के बाद शाम सात बजे से मतगणना का कार्य आरंभ किया गया।

खबरें और भी हैं...