कोरोना की त्रासदी / 70 दिन से रामगढ़ में फंसे थे, यूपी पहुंचने के 5 घंटे बाद ही महिला ने बच्चे काे जन्म दिया

Was stranded in Ramgarh for 70 days, the woman gave birth to a child 5 hours after reaching UP
X
Was stranded in Ramgarh for 70 days, the woman gave birth to a child 5 hours after reaching UP

  • 13 मजदूराें की घर पहुंचने की खुशी हुई दाेगुनी, फोन कर दी जानकारी
  • स्थानीय लोगोें ने अनाज से लेकर घर भिजवाने तक किया था सहयोग

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 07:14 AM IST

रामगढ़. लॉकडाउन में पिछले 70 दिनों से रामगढ़ में यूपी के सोनभद्र जिले के दूधी गांव के 13 लोग फंसे हुए थे। ये सभी लोग रामानगर मरार एरिया में मजदूरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण करते थे। लाॅकडाउन में कुछ ढील मिलने पर स्थानीय लोगों के पहल पर इन लोगों को उनके घर यूपी भेजवा दिया गया। रविवार की शाम करीब 5 बजे सभी मजदूर अपने घर पहुंचे और पांच घंटे बाद ही एक मजदूर रामू की गर्भवती पत्नी ने बच्चे को जन्म दिया। मजदूरों की घर वापसी और बच्चे के जन्म से खुशी दोगुनी हो गई।मजदूरों ने घर भेजवाने में सहयोग करने वाले रामानगर निवासी आजसू नेता सज्जन पारीक को मोबाइल फोन कर जानकारी दी और उनका आभार जताया। मजदूर ने कहा कि रोजी-रोटी के लिए घर से दूर गए लोगों के साथ घर की गर्भवती बहू की चिंता हो रही थी। लॉकडाउन में काम बंद होने से इन लोगों के समक्ष में आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। इसके बाद ये लोग भीख मांग कर अपना गुजारा करने लगे थे। 
लॉकडाउन में फंसे इन मजदूरों को आजसू नेता सज्जन पारीक सहित कई लोगोंं ने कई दिनों तक राशन उपलब्ध कराया। हमेशा ही मजदूरों का परिवार  घर सोनभद्र जाना चाहता था क्योंकि इनके बीच एक गर्भवती महिला भी थी। इस बीच एक बार सभी लोग पैदल ही घर जाने के लिए निकले थे, पर पुलिस ने उनको बरकाकाना में राेक दिया था। परिवार में रामू, पिंकी देवी, अरुण कुमारी, अरुण कुमारी, आनंद कुमार, चांद कुमारी, किशुन,राहुल कुमार, दसमत देवी,रंगबाज देवी, बादल कुमार, शिवनी कुमारी, सधन कुमारी आदि शामिल हैं। ट्वीट करने पर मिली थी प्रशासन से सहायता आजसू नेता सज्जन पारीक ने इन परिवार की समस्या को लेकर सीएम और डीसी को ट्वीट किया था। इसे संज्ञान लेते हुए डीसी ने नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को मामले की जांच करने के निर्देश दिया था। वहीं, प्रशासनिक पदाधिकारी ने इन परिवार वालों से मिलकर खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना