पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रांची-पटना नेशनल हाईवे लाइव:देवघर में पत्नी बीमार, गाड़ी नहीं मिली तो राउरकेला से रिक्शा लेकर चल पड़ा मजदूर, बोला-गांव में ही रोजी-रोटी तलाशेंगे

कुजू4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • थम नहीं रहा मजदूरों के घर लौटने का सिलसिला, हर मजदूर अपने साथ ला रहा बेबसी की नई कहानी
  • एनएच-33 पर कुजू के पास दिनभर लगा रहता है गांव जा रहे मजदूरों का रेला, लॉकडाउन में रोजगार बंद होने पर मजदूर हर हाल में घर लौट जाना चाहते हैं

बढ़िया जिंदगी गुजारने की तमन्ना पाले मजदूर रोजी-रोटी की तलाश में गांव छोड़कर शहरों की ओर गए थे पेट की भूख मिटाने के लिए।  वे दिन भर काम कर रोजी रोटी की जुगाड़ में जुटे रहे।  अपने परिवार और बच्चों की खुशियों के खातिर अपने तन के दर्द को सहते हुए मजदूर पल-पल पसीना बहाते रहे। अन्य दिनों में उनके शरीर को तकलीफ तो मिलती थी, मगर साथ ही रोजी रोटी भी मिलती थी। कोई ईंट के भट्ठों पर काम कर रहा था तो कोई फैक्ट्री में। कोई ठेले चला रहा था तो किसी की पत्नी दाई का काम कर रोजी रोटी कमा रही थी। कोई  मिट्टी के बर्तन बेच अपनी आमदनी बढ़ा रहे था तो कोई चाय बेच कर घर पर आटा, दाल, सब्जी,चावल सब कुछ तो था। पर लॉकडाउन ने सब कुछ बदल कर रख दिया है।   जहां काम काज चल रहा था वहां  काम काज ठप पड़ गया। काम काज ठप पड़ गया तो आमदनी भी ठप पड़ गई। और जब आमदनी ही ठप हो गई तो भला कहां से जुगाड़ होंगे तेल ,चीनी,नमक और घरेलू सामान ।यही कारण है कि  गरीबी की वजह से लाचार बेबस मजदूर अब शहरों की रोजी-रोटी छोड़कर गांव की ओर लौटने को मजबूर हैं। इधर, शनिवार को भी मजदूरों का घर लौटने का सिलसिला जारी रहा।रांची पटना मार्ग पर कई मजदूर ट्रक और बस पर दिन भर आते जाते रहे। हालांकि अब साइकिल और पैदल चलने वाले मजदूरों की संख्या काफी कम देखने को मिल रही है। बताया जाता है कि प्रशासन की सख्ती में मिल रहे ढील से सड़कों पर गुजरने वाले वाहन भी, इन दिनों प्रवासी मजदूरों को पैदल और साइकिल पर चलता देख अपने वाहन पर बिठा ले रहे हैं। और उन्हें आगे जहां तक संभव हो रहा है, लेकर पहुंचाए जा रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें