पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समीक्षा:जिला बाल संरक्षण इकाई को गोद लेने की प्रक्रिया का, व्यापक प्रचार-प्रसार करने का दिया गया निर्देश

सिमडेगा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अनाथ बच्चों का भविष्य उज्ज्वल बनाने का प्रयास हो- डीसी

उपायुक्त सुशांत गौरव ने जिला बाल संरक्षण इकाई,बाल कल्याण समिति, बाल संप्रेक्षण गृह, बाल गृह, बाल तस्करी, पोक्सो एक्ट, बाल मजदूरी से संबंधित समीक्षा बैठक की। बाल गृह की समीक्षा के क्रम में कहा कि नवजात शिशु का रखरखाव बेहतर ढंग से हो। सुरक्षा के मद्देनजर चहारदीवारी निर्माण, मरम्मत एवं कंटीला वायरिंग से संबंधित प्रस्ताव समर्पित करने का निर्देश दिया। एक महीने में आवश्यक कार्य पूर्ण कराने का निर्देश दिया। अनाथ बच्चों के अडाप्शन से संबंधित प्रक्रिया की समीक्षा के क्रम में कहा कि बच्चों का आने वाले भविष्य उज्ज्वल हो।

जो दौर से उन्हें जन्म के उपरांत गुजरना पड़ा वो समय उनकी जिन्दगी में दुबारा न आए। इस दिशा में अच्छे से आवश्यक कार्य करते हुए गोद लेने की प्रक्रिया का व्यापक प्रचार-प्रसार करने की बात कही। जिले के अनाथ बच्चों में से तीन बच्चों का परवरिश विदेशों में किया जा रहा है, उपायुक्त ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि बच्चे ब्राइट जिन्दगी की दिशा में अडाप्शन के कार्य को सम्पन्न कराएं। साथ ही बच्चे का मॉनिटरिंग भी करते रहें। प्रचार-प्रसार के तंत्र को मजबूत करते हुए विभिन्न जिला एवं राज्यों में व्यापक प्रचार-प्रसार करने की बात कही। सुरक्षा की दृष्टि से महिला होम गार्ड की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया।

खबरें और भी हैं...