कार्य की समीक्षा:मनरेगा की योजनाओं को 20 अक्टूबर तक पूरा कराएं अधिकारी

सिमडेगा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में भाग लेते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
बैठक में भाग लेते अधिकारी।
  • उपायुक्त ने अधिकारियों के साथ विस्तृत योजनाओं की प्रगति एवं वित्तीय कार्य की समीक्षा की

उपायुक्त सुशांत गौरव ने जिले के अधिकारी सहित बीडीओ और सीओ के साथ गुरुवार काे बैठक की। इस दौरान 30 सितंबर काे मुख्यमंत्री के द्वारा बैठक के माध्यम से दिए गए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देशों के अनुपालन से संबंधित योजनाओं की प्रगति एवं वित्तीय कार्य की समीक्षा की।

उन्होंने सरकार की कल्याणकारी योजना बिरसा हरित ग्राम योजना, पोटो-हो-खेल योजना, आवास प्लस निबंधन, 15वें वित्त आयोग में प्राप्त राशि के व्यय की स्थिति, जल जीवन मिशन, मुख्यमंत्री धोती-साड़ी योजना, कल्याण छात्रवृत्ति योजना, मुख्यमंत्री रोजगार गारंटी योजना, श्रमिक निबंधन, एसएसआर 2022, पंचायत चुनाव की समीक्षा, लंबित विभिन्न प्रमाण पत्रों की समीक्षा, मुख्यमंत्री पशुधन योजना, किसान क्रेडिट कार्ड वितरण की विभिन्न प्रक्रिया की समीक्षा की।

उन्होंने मनरेगा एवं 15वें वित्त आयोग की समीक्षा के क्रम में कहा कि जितने भी क्रियान्वित योजना है, उसे 20 अक्टूबर तक पूरा करें। नई योजना के कार्य को 25 अक्टूबर तक पूर्ण करें। साथ ही 15वें वित्त के शेष राशि से नई योजनाओं का चयन एवं स्वीकृति कराते हुए धरातल पर पंचायत चुनाव से पूर्व क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। जिला परिषद, पंचायत एवं ग्राम-पंचायत के प्राप्त राशि का कुल व्यय सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। योजना के क्रियान्वयन में जो तकनीकी समस्या आ रही है, उसे 24 घंटे में ठीक करने का निर्देश दिया।

बिरसा हरित ग्राम योजना के पौधरोपण करने का निर्देश : डीसी ने बिरसा हरित ग्राम योजना की समीक्षा के क्रम में कहा कि पौधरोपण के साथ उससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बल मिलने से संबंधित पौधा का पौधरोपण करें। अर्जुन के पेड़ सहित अन्य पेड़ों में रेशम उत्पादन से आर्थिक गतिविधि को बढ़ाने में सहायक होता है। इससे ग्रामीणों लाभ भी मिलेगा। वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना की समीक्षा के क्रम में प्रगति में कमी पाई गई। उन्होंने कहा कि सिमडेगा जिला खेल के लिए विख्यात होता जा रहा है। ऐसे में पंचायत स्तर तक खेल मैदान की सुविधा सरकार के द्वारा ग्रामीण युवा पीढ़ी को सुपुर्द की जा रही है। अंचलाधिकारी यह सुनिश्चित करे कि 94 पंचायत तक जमीन चिह्नित करते हुए 11 अक्टूबर तक खेल मैदान समिति को सुपुर्द करने का निर्देश दिया।

कुरडेग में प्रधानमंत्री आवास योजना का बुरा हाल : प्रधानमंत्री आवास योजना से संबंधित प्रगति प्रतिवेदन की समीक्षा के क्रम में कुरडेग प्रखंड की शुन्य प्रगति पाई गई। उपायुक्त ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि फिल्ड में रोजगार सेवक, जन सेवक, पंचायत सेवक कार्यरत है। उनके माध्यम से मनरेगा श्रमिकों को जॉब कार्ड एवं रोजगार सृजन का कार्य किया जा रहा है। वे मनरेगा श्रमिकों का लक्ष्य निर्धारण करते हुए प्रतिदिन ई-श्रम में रजिस्ट्रेशन करायेंगे। प्रचार-प्रसार एवं जागरुकता फैलाई जाए। जो भी दस्तावेज एवं अभिभावक की उपस्थित की आवश्यकता हो, उसके अनुरूप रूट प्लान तैयार करें और जिले के शतप्रतिशत असंगठित मजूदरों को ई-श्रम योजना से आच्छादित करें।

मुख्यमंत्री पशुधन योजना का दें लाभ : मुख्यमंत्री पशुधन योजना की समीक्षा के क्रम में बीडीओ एवं सीओ को बताया कि पशुपालन, गव्य, आईटीडीए, कल्याण विभाग द्वारा पशुपालन योजना का लाभ लाभार्थी को दिया जा रहा है। पंचायत वाइज सूची तैयार कर बीडीओ को उपलब्ध कराएं। निःशुल्क वितरण के कार्य को दो दिनों में पूर्ण करें। 10 एवं 50 प्रतिशत सब्सिडी की समस्या का निराकरण करते हुए कहा कि केसीसी के माध्यम से लाभार्थी को अनुदान की राशि का ऋण उपलब्ध कराएं। उसके उपरांत उस अनुदान की राशि से उन्हें पशुपालन की योजना से आच्छादित करें। सभी बीडीओ कर्मियों को अलग-अलग कार्य से जोड़ते हुए योजना के क्रियान्वयन का टीम तैयार कर काम करें।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभुक काे दें राशि : प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की समीक्षा के क्रम में कहा कि लाभुक की स्वीकृति होने के उपरांत लाभुक के खाते में पहले किस्त की राशि के साथ सभी किस्त समय से हस्तांतरित करते हुए योजना पूर्ण कराएं, जो आवास निर्माण का कार्य लम्बे अरसे से लंबित है, उसके निराकरण हेतु उपायुक्त ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि ग्राम सभा करें,जो लाभुक बाहर रहते है, उनसे वार्ता कर उक्त राशि को आम-सभा के माध्यम से किसी एक व्यक्ति को जिम्मेवारी देते हुए आवास को पूर्ण कराएं।

खबरें और भी हैं...