पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यकाल:पुलिस ने 75 विद्यालयों के 163 परीक्षार्थियों के बीच स्मार्ट फोन बांटकर शिक्षा का अलख जगाया : एसपी

सिमडेगा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के पुलिस अधीक्षक डॉ. शम्स तब्रेज का एक वर्ष का कार्यकाल उपलब्धियों भरा रहा है। अपने एक वर्ष के कार्यकाल में पुलिस ने कई कांडों का उदभेदन किया और कई शातिर अपराधियों को जेल के सलाखों के पीछे भेजा। डॉ तब्रेज ने 14 सितम्बर 2020 को एसपी के पद पर योगदान दिया था।

इस अवधि में सिमडेगा जिला पुलिस टीम ने कई असाधारण कीर्तिमान भी हासिल किए हैं। एसपी ने बताया कि सिमडेगा पुलिस टीम हर तबके के लोगों के दुःख-दर्द को बांटने में कभी भी पीछे नहीं रही। चोरी गए, खोये या गुम हुए मोबाइल को कारगर पुलिसिया तकनीक से ढूंढ़ निकालने में पुलिस ने बेहतर काम किये।

पुलिस ने इसमें अखिल भारतीय स्तर पर एक कीर्तिमान बनाया है। विगत ग्यारह माह में 156 मोबाइल सेट्स को तलाश कर 98 प्रतिशत लोगों को सुपुर्द कर दिया है। पुलिस ने सामुदायिक पुलिसिंग के तहत सिमडेगा जिला पुलिस उपकरण बैंक के माध्यम से मेधावी एवं असहाय छात्र/छात्राओं के आन-लाईन पठन-पाठन हेतु आम-जनों के सहयोग से निःशुल्क एकत्रित कुल-162 स्मार्टफोन (जिनमें से कुल-141 स्मार्टफोन बिल्कुल नये एवं ब्रैंडेड हैं) तथा 1 लैपटाॅप को कुल-75 विद्यालयों के 163 परीक्षार्थियों में वितरित किया ,जो राज्य में बेहतर प्रदर्शन है।

सामुदायिक पुलिसिंग के तहत 8 जनवरी को प्रारम्भ किए गये पुलिस अंकल ट्यूटोरियल के माध्यम से दशम वर्ग के कुल-1929 परीक्षार्थियों को पठन-पाठन की सामग्रियों सहित लंच-बाॅक्स, वाटर-बोतल, स्कूल बैग, मास्क, सैनिटाईजर आदि निःशुल्क मुहैया कराते हुए 176 शिक्षकों, शैक्षणिक रूचि रखने वाले दो-दर्जन से अधिक पुलिस पदाधिकारियों तथा जिला के समस्त थाना/ओपी प्रभारियों की मदद से निःशुल्क कोचिंग देकर उनके केरियर-निर्माता बनने का एक कीर्तिमान हासिल किया है।

नशे के सौदागरों के विरुद्ध सिमडेगा जिला पुलिस टीम के द्वारा विगत 8-माह में लगातार कारगर पुलिसिया कार्रवाई से कुल-1721.35 किलोग्राम गांजा, 12 वाहन जब्त किए। 13 मामलों में 26 शातिर गांजा तस्कर सलाखों के पीछे भेजे जा चुके हैं। अब तक बालिका/महिला तस्करों के विरुद्ध सिमडेगा जिला पुलिस टीम के द्वारा लगातार तत्परतापूर्ण एवं त्वरित पुलिसिया कार्रवाई में 88 बालिका,महिला व बालकों को भिन्न-भिन्न स्थानों से रेस्क्यू (मुक्त) कराया जा चुका है।

खबरें और भी हैं...