किसानों की समस्या:किसानों की समस्या और तीन कृषि कानून के विरोध में दिया गया धरना

सिमडेगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आयोजित धरना में झामुमो, कांग्रेस और राजद के नेता हुए शामिल

झारखंड महा गठबंधन के नेतृत्व में देश के किसानों की समस्या एवं तीन कृषि कानून के विरोध में सिमडेगा जिला गठबंधन के नेतृत्व में बुधवार को अनुमंडल कार्यालय के सामने धरना दिया गया। कार्यक्रम में कोलेबिरा विधायक विकसल कोंगाड़ी ने कहा कि सरकार हठधर्मिता पर उतर आई है। कहा किसानों की हर मांग जायज है। एमएसपी कानून बना कर किसानों को दे दें ताकि कोई भी हमारी फसल को सरकार के द्वारा तय किए गए दाम से कम कीमत पर खरीदी न कर सके।

किसान कांट्रेक्ट फार्मिंग एवं निगम वाली मंडी का विरोध कर रहे है। क्योंकि कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग में किसानों को कानूनी मदद से मरहूम कर दिया गया है। किसान विरोधी कृषि कानून से सिर्फ किसानों को ही नुकसान नहीं होगा बल्कि इससे छोटे, मंझले व्यवसायी वर्ग के साथ आम जनता को भी नुकसान उठाना पड़ सकता है ।

कार्यक्रम को पूर्व विधायक बसंत लोगा, कांग्रेस जिला अध्यक्ष अनूप केशरी, डीडी सिंह, शमी आलम, झामुमो जिला सचिव शफीक खान, राजद जिला अध्यक्ष दिनेश बारला, रावेल लकड़ा, नील जस्टिन बेक, दिलीप तिर्की, अनूप लकड़ा, शाहिद, तिलका रमण, देवनिष खेस, सुनील खड़िया, श्यामलाल लाल प्रसाद, अजित लकड़ा, फ्रांसिस बिलुंग नामिता बा, शिशिर मिज, रोज प्रतिमा सोरेंग ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन नगर परिषद अध्यक्ष पुष्पा कुल्लु के द्वारा किया गया। धरना कार्यक्रम में जिला प्रवक्ता रणधीर रंजन, लीला नाग, ज्योति डुंगडुंग, शशि मिंज, थॉमस तिर्की, नेल्सन लकड़ा, सेलेस्टिन केरकेट्टा, विकास बारला सहित काफी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...