पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध प्रदर्शन:राज्य के वित्त मंत्री के बयान के खिलाफ सिमडेगा के शिक्षकों ने काला बिल्ला लगाकर जताया विरोध

सिमडेगा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड के मंत्री रामेश्वर उरांव पर सरकारी शिक्षकों के विरुद्ध बयान बाजी करने का आरोप लगाते हुए शिक्षकों ने मंगलवार को विरोध प्रदर्शन किया। अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले आयोजित प्रदर्शन कार्यक्रम में शिक्षकों ने काला बिल्ला लगाकर विरोध जताया। अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के सदस्यों ने उनके बयान की कड़ी निंदा की।

इस मौके पर संघ के जिला सचिव दुखु नायक ने कहा कि राज्य के वित्त सह खाद्य आपूर्ति मंत्री रामेश्वर उरांव ने सरकारी स्कूलों के संबंध में विवादित बयान दिया है। वे प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन (पासवा) द्वारा आयोजित सभा में बोल रहे थे। वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव का कथन कि सरकारी विद्यालय में पढ़ाई का माहौल नहीं है और अगर प्राइवेट स्कूल न होते तो राज्य में शिक्षा का स्तर न होता, यह बयान दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि अगर प्राइवेट स्कूल की तुलना करते हैं तो सरकार सारी संसाधन प्राइवेट स्कूल के तर्ज पर उपलब्ध कराए। प्राइवेट स्कूल के शिक्षक कक्षा संचालन के अतिरिक्त कोई गैर शैक्षणिक कार्य नहीं करते और पर्याप्त मात्रा में विषयवार और कक्षावार शिक्षक होते हैं। सरकार सभी संसाधन उपलब्ध कराए, सभी पदों पर पर्याप्त शिक्षक हों और उपर्युक्त कार्यों से सरकार सभी सरकारी शिक्षकों को मुक्त करे, तब पता चलेगा कि बेहतर कौन है।

प्राइवेट स्कूल के योगदान को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता, पर मंत्री रामेश्वर उरांव का बयान निंदनीय है। मौके पर जिला महासचिव दुखू नायक, जिला उपाध्यक्ष मोहम्मद अली इमाम, संगठन मंत्री मोहम्मद साजिद, मोहम्मद इबरार, मोहम्मद नौशाद, विनय शंकर नंद, राजकुमार राम, बिना लकडा, रजनीकांत तिलक, कमलेश मांझी, सलीम तिर्की, प्रदीप प्रसाद, अभिषेक, ज्योति तिर्की, ज्योति सोरंग, प्रेम शर्मा, देवेंद्र तिवारी, विष्णुदेव प्रसाद, मिथिलेश कुमार आदि ने काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया।

खबरें और भी हैं...