पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अव्यवस्था:सात साल में सोलर पावर जलापूर्ति योजना फेल... कहीं पैनल खराब मिले तो कहीं पंप, लोगों को नहीं मिला पानी

सिमडेगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भास्कर टीम ने जिले के पांच प्रखंड में सोलर वाटर सप्लाई योजना का जाना हाल, हर प्रखंडों में नजर आई भारी गड़बड़ी

सात वर्ष पूर्व जिले में जब सोलर पावर आधारित जलापूर्ति योजनाओं के निर्माण की शुरुआत हुई थी तब लोगों को उम्मीद थी कि ये योजनाएं लाभदायक साबित होंगी। लेकिन जनता की उम्मीदें टूट गईं। पुरानी योजनाओं में से ज्यादातर ठप पड़ीं हैं, वहीं हाल की योजनाओं में से कुछ ही का लाभ ग्रामीणों को मिल रहा है। दैनिक भास्कर ने 5 प्रखंडों में सोलर चलित जलापूर्ति योजनाओं का हाल लिया। ग्रामीणों तथा जनप्रतिनिधियों से जानकारी ली। कई पंचायतों में स्थल पर पहुंचकर योजना देखी।

कहीं पंप खराब है तो कहीं सोलर पैनल। कहीं बोरवेल धंस गया है तो कहीं पैनल या पंप की चोरी हाे गई है। जलडेगा मुख्यालय ग्राम तेली टोली योजना ऐसी भी मिली जहां न तो बोरवेल या कुआं है और न ही पंप। सिर्फ सोलर प्लेट लगाकर वर्षों से छोड़ा हुआ है। कई स्थान पर स्टार्टर पैनल खराब बताए गए। अधिकांश योजनाओं में यह बात सामने आई कि कुछ महीने चलने के बाद जलापूर्ति ठप हो गई। सिंचाई योजनाओं और पेयजलापूर्ति दोनों का ही हाल बेहाल है। विभिन्न विभागों, पंचायतों और एजेंसियों के माध्यम से स्थापित योजनाओं का कहीं कोई लेखा जोखा भी नहीं है।

जलडेगा में सोलर योजनाएं बेहाल हैं। कहीं सोलर पैनल झाड़ियों में गुम हैं तो जलडेगा तेली टोली में बिना बोरवेल के ही सोलर सिस्टम लगा दिया गया। एक ही चापाकल में दो लाभुकों का सिस्टम भी जलडेगा में लगाया गया है। यहां पूर्व के स्थापित सार्वजनिक चापाकल में सोलर सिस्टम लगा कर लोगों की दिक्कत बढ़ा दी गई है। मौसम खराब होने से लोगों ‌को पेयजल नहीं मिलता। पहले चापाकल से पानी मिल जाता था। कई जगहों पर सोलर योजना अधर में लटकी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें