पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हॉकी इंडिया:राष्ट्रीय जूनियर पुरुष हॉकी चैंपियनशिप के लिए ट्रायल, 32 खिलाड़ियों का किया चयन

सिमडेगा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खिलाड़ियों को संबोधित करते एसडीपीओ। - Dainik Bhaskar
खिलाड़ियों को संबोधित करते एसडीपीओ।

अगले महीना तेलंगाना में आयोजित होने वाली 11वीं हॉकी इंडिया राष्ट्रीय जूनियर पुरुष हॉकी चैंपियनशिप के लिए हॉकी झारखंड के जूनियर पुरुष हॉकी टीम के चयन के लिए रविवार को एस्ट्रोटर्फ हॉकी स्टेडियम सिमडेगा में खुली चयन ट्रायल प्रतियोगिता हुई। जिसमें काफी संख्या में खिलाड़ी भाग लिए। रविवार को लगभग 400 से अधिक खिलाड़ी ट्रायल में भाग लेने के लिए आए थे। जिनमें से 207 खिलाड़ियों का आवश्यक कागजात सही पाए जाने के बाद उनका लगातार 6 घंटा का ट्रायल हुआ। जिसमें से सर्वश्रेष्ठ 32 खिलाड़ियों का चयन किया गया।

्रतियोगिता से पूर्व इनका विशेष प्रशिक्षण कैंप लगाया जाएगा और उनमें से 18 खिलाड़ियों का चयन कर हॉकी झारखंड के लिए जूनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिता में खेलने का अवसर दिया जाएगा। चयन ट्रायल में सिमडेगा, गुमला, रांची, खूंटी, लोहरदगा, रामगढ़, हजारीबाग, कोडरमा, पश्चिमी सिंहभूम, पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला खरसावां, पलामू, लातेहार जिला के खिलाड़ी भाग लिए। चयन ट्रायल को सफल बनाने में हॉकी झारखंड के उपाध्यक्ष सह हॉकी सिमडेगा के अध्यक्ष मनोज कोनबेगी, दशरथ महतो, पंखरा सियूस टोप्पो, सुनील तिर्की, प्रतिमा बारवा, कमलेश्वर मांझी, वेद प्रकाश भोक्ता, बसंत बा, अनु राहुल, तारिणी कुमारी, विनोद कुल्लू, कुबूल बेंगरा, करिश्मा परिवार, इलेक्सियूस लकड़ा आदि शामिल हैं। इधर चयन ट्रायल को लेकर खिलाड़ियों में जबरदस्त उत्साह रहा।

बुराइयों को दूर कर खेल में ध्यान दें खिलाड़ी : एसडीपीओ

हॉकी खिलाड़ी रहे एसडीपीओ डेविट डोडराय ने मैदान में खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि यह आप लोगों को बहुत अच्छा अवसर मिला है कि झारखंड टीम का ट्रायल आपके जिला में हो रहा है। खिलाड़ियों को संबोधित करते एसडीपीओ।आपलोगों को इधर उधर जाना नहीं पड़ रहा है। आज के जमाने में खेल का बहुत ही महत्व है। खेल ही एक ऐसा मंच है जो पूरे विश्व में शोहरत दिलाती है। धनवान भी बनाती है। आपलोग अच्छे खिलाड़ी के साथ अच्छे नागरिक भी बनें। अपने आसपास गलत चीजों जैसे शराब,जुआ, एवम असामाजिक लोगों को पनपने नहीं दें। आपलोग युवाओं के प्रेरणास्रोत हैं। इसलिए गलत लाइन में जा रहे युवाओं को भी समझाएं।

खबरें और भी हैं...