पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कार्रवाई:एफसीआई से अनाज की कालाबाजारी... 492 बैग चावल जब्त, गोदाम सील, आरोपी फरार

टंडवा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हजारीबाग रेलवे साइडिंग कुद से मोरांगी डिपो जाना था, चावल पहुंच गया धनगडा

हजारीबाग के कटकमदाग रेलवे ट्रैक से भारतीय खाद निगम के दो ट्रकों में 492 बोरा चावल को पुलिस बरामद करने मे सफलता हासिल की है। टंडवा व कटकमदाग थाना के संयुक्त छापेमारी में टंडवा थाना क्षेत्र के धनगडा निवासी जितेंद्र गुप्ता उर्फ टीपोरी के धनगडा स्थित गोदाम से चोरी गए भारतीय खाद्य निगम के पांच सौ बोरे में 492 बोरा चावल जब्त करते हुए गोदाम को सील कर दिया गया है। संयुक्त छापेमारी अभियान मे भारतीय खाद निगम के अधिकारी, सिमरिया पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी सुधीर कुमार दास, बीडीयो प्रताप टोप्पो, सीओ अनुप कच्छप, एसडीपीयो आशुतोष कुमार सत्यम के अलावे टंडवा व कटकमदाग की पुलिस शामिल थी। मिली जानकारी के अनुसार बीते 13 सितबंर को कटकमदाग थाना क्षेत्र अंतर्गत हजारीबाग रेलवे साइडिंग कूद से 500 बैग चावल को दो ट्रक के द्वारा भारतीय खाद्य निगम मोरंगी डिपो पर पहुंचना था।

ट्रक ड्राइवर के द्वारा चावल की बोरियां मोरांगी डिपो नही पहुंचा कर अवैध रुप से टंडवा थाना अंतर्गत धनगड्डा गांव के निवासी जितेंद्र गुप्ता के गोदाम पर चावल को उतार दिया। जब दोनों ट्रक भारतीय खाद्य निगम मोरांगी के डिपो पर नहीं पहुंचा तो संबंधित विभाग के अधिकारी इसकी शिकायत कटकमदाग थाना दिया गया। प्रारंभिक जांच पड़ताल में कटकमदाग थाना दोनों ट्रक के मालिक देव सागर सिंह चरही से संपर्क किया। ट्रक मालिक ने बताया कि हमारे दोनों ट्रक लापता है तथा दोनों ट्रक से चावल को टंडवा थाना के अंतर्गत धनगड्डा गांव में ड्राइवर को बंदी बनाकर सभी चावल की बोरियां उतार ली गई। कटकमदाग थाना प्रभारी ने टंडवा थाना से संपर्क करते हुए छापेमारी कर लगभग 492 बोरा चावल की बोरियां तथा भारतीय खाद्य निगम के लगभग 3 खाली बोरियां भी जब्त किया है। धनगड्डा निवासी जितेंद्र गुप्ता पुलिस के पकड़ से फरार है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें