लेखा-जोखा:चित्रांशों ने की चित्रगुप्त की पूजा

टंडवा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लेखनि-कटनि हस्त चित्रगुप्त नमोऽस्तुते।” श्लोक के साथ टंडवा के विभिन्न क्षेत्रों के चित्रांश परिवार ने लेखनी को गति प्रदान करने वाले भगवान श्री चित्रगुप्त की पूजा की और वार्षिक लेखा-जोखा भगवान को समर्पित किया। इस दौरान टंडवा के खद्धैया,वृंदा, कसियाडीह,टंडवा में सामूहिक रुप से पूजा अर्चना की। इस पूजा सबसे बडी महत्ता है कि हर चित्रांश परिवार सालाना आय-व्यय की वार्षिक लेखा-जोखा का ब्यौरा भगवान के चरणों में समर्पित करते हैं जो कि अद्वितीय रुप से की जाती है।

खधैया में सामूहिक पूजा में किशोरी मोहन प्रसाद, अनिल सिन्हा,विजय सिन्हा,मनोज सिन्हा, विकास अंबष्ट, विनय सिन्हा,प्रकाश सिन्हा,अनूप सिन्हा, प्रदीप सिन्हा,, राकेश सिन्हा, अमित सिन्हा,पियुष सिन्हा, सुमित सिन्हा,शुभम सिन्हा, आशुतोष राज, आर्यण, किसन, सावन,प्रतीक,रौनक,आनंद,शिवांश,उत्कर्ष आदि शामिल हुए। साथ ही सभी घरों में बहनों ने अन्नकूट कर भाईदूज की पूजा की और सूती के रक्षा सूत्र भाई की कलाई पर बांधा।

खबरें और भी हैं...