राशि वृद्धि:एनटीपीसी ने मुआवजा बढ़ोतरी की बात को खारिज किया

टंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विस्थापित विकास संघर्ष समिति के अखबार में आए बयान को एनटीपीसी प्रबंधन ने एक सिरे से खारिज कर दिया है। कहा कि 2 मार्च 2016 को हुई वीडीएसी के बैठक मे मुआवजे की राशि 15 से 20 लाख रुपया प्रति एकड़ बढ़ाने का प्रस्ताव अपनाया गया था। जिसमंे बैठक में उपस्थित एनटीपीसी के प्रतिनिधि ने इस कदम को कड़ा विरोध किया था। साथ ही मुआवजा राशि वृद्धि पर कभी भी सहमति नहीं दी है।

बताया कि भुगतान की गई मुआवजे की राशि 15 लाख रुपए प्रति एकड़ राशि में कोई वृद्धि करने में एनटीपीसी की आपत्ति व असमर्थता तत्कालीन जीजीएम एनटीपीसी उत्तरी कर्णपुुरा द्वारा सिमरिया एसडीओ को सूचित किया गया था। यह दुर्भाग्य है कि1980 मेगावाट की उतरी कर्णपुरा सुपर थर्मल पावर परियोजना का निर्माण कार्य बार बार एक ही भूमि के टुकड़े पर मुआवजे की वृद्धि की मांग को लेकर बाधित किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...