ग्रामीणों का विरोध:सड़क के लिए दूसरी बार टेंडर, उसका भी लाेगाें ने किया विराेध, कहा- घनी आबादी से गुजर रही है

टंडवा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिसई से शिवपुर रेलवे साइडिंग तक सड़क निर्माण का मामला, यहां से जाएंगे कोल वाहन

सिसई से शिवपुर रेलवे साइडिंग तक बनने वाली कोल परिवहन सड़क निर्माण कार्य को ग्रामीणों ने विरोध कर दिया। बताया गया कि उक्त सड़क निर्माण को लेकर शुक्रवार को सांसद व विधायक द्वारा शिलान्यास किया जाना था। जिसकी भनक लोगों को लगते ही इसका विरोध को लेकर गोलबंद होते हुए शुक्रवार सुबह से ही शिलान्यास स्थल पर ग्रामीण जमा हो गये थे।

आक्रोशित ग्रामीणों का कहना है कि सिसई से शिवपुर रेलवे साइडिंग तक बनने वाली सड़क कई घनी आबादी वाले गांव से होकर गुजर रही है। जिसका विरोध करते हुए ग्रामीणों के साथ साथ जनप्रतिनिधियों ने भी प्रशासन से रोक लगाने की मांग किया था। जिसका समर्थन स्थानीय विधायक किशुन कुमार दास ने भी किया था।

वहीं निर्माण कार्य कर रहे ठेकेदार की माने तो ग्रामीणों के विरोध के कारण सड़क निर्माण को लेकर पूर्व में हुए टेंडर को रद्द कर दिया गया। जिसके बाद सड़क निर्माण को लेकर ग्रामीणों द्वारा दिए गये सुझाव के अनुसार घनी आबादी से अलग हटकर सड़क बनाने का टेंडर हुआ। इसके बावजूद ग्रामीण विरोध कर रहे हैं। बताते चले की एनटीपीसी के चट्टीबारीयातु कोल माइंस से कोयला ढुलाई को लेकर सिसई से शिवपुर रेलवे साईडींग तक 28 करोड़ की लागत से बनने वाली साढ़े छ: किलोमीटर लंबी सड़क खैलहा व बृंदा गांव से होकर पहले बनने वाली थी। पर ग्रामीणों के भारी विरोध के बाद अब नये टेंडर से सड़क गांव से बाहर होकर बनने वाली है। इसके बावजूद ग्रामीण विरोध कर रहे हैं। शिलान्यास कार्यक्रम के विरोध मे ग्रामीण तख्ती लेकर दिन भर बैठ कर नारेबाजी करते रहे।

ग्रामीणों का हौसला अफजाई करने के लिए आजसू नेता मनोज चंद्रा के नेतृत्व मे कई कार्यकर्ता उपस्थित थे। वहीं दूसरी तरफ भाजपा मंडल अध्यक्ष गोविंद तिवारी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि उद्घाटन कार्यक्रम सांसद के स्वास्थ्य व विधायक के व्यस्ततम कारणों को लेकर स्थगित की गई है।मौके पर मुखिया उपेन्द्र यादव, निलेश ज्ञासेन, जगदीश महतो, जयमंति देवी, सुखदेव महतो मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...