पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुंबई में बारिश का कहर:मालवानी इलाके में 4 मंजिला इमारत गिरने से 11 लोगों की मौत, 7 जख्मी; 15 को रेस्क्यू किया गया

मुंबई10 दिन पहलेलेखक: आशीष राय
इमारत के मलबे में फंसे लोगों को निकालने के लिए पूरी रात रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया।

मुंबई में बुधवार को पूरे दिन हुई बारिश के बाद मालवानी इलाके में एक चार मंजिला इमारत रात 11.10 बजे ढहकर दूसरी इमारत पर गिर गई। हादसे के बाद मलबे से 18 लोग निकाले गए थे। इनमें से 11 की मौत हो चुकी है। बाकी 7 घायलों का बीडीबीए नगर जनरल हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। हादसे के वक्त इमारत में तीन परिवार रह रहे थे। इनमें कुछ बच्चे भी शामिल हैं।

रेस्क्यू रात भर जारी रहा। मलबे में लोगों को तलाशता रेस्क्यू टीम का सदस्य।
रेस्क्यू रात भर जारी रहा। मलबे में लोगों को तलाशता रेस्क्यू टीम का सदस्य।

घटना के बाद फायर ब्रिगेड और BMC की टीम घटनास्थल पर पहुंची और राहत कार्य शुरू किया। घनी आबादी होने के चलते घटनास्थल तक पहुंचने का रास्ता संकरा है। ऐसे में रेस्क्यू में दिक्कत हो रही है। रास्ता संकरा होने की वजह से एंबुलेंस, दमकल और JCB को भी मौके पर पहुंचने में दिक्कतें हुई थीं।

दुर्घटना में रेस्क्यू किए गए लोगों को बीडीबीए नगर जनरल हॉस्पिटल में ले जाया गया।
दुर्घटना में रेस्क्यू किए गए लोगों को बीडीबीए नगर जनरल हॉस्पिटल में ले जाया गया।

बृहन्मुंबई नगर निगम ने कहा है कि आसपास की तीन इमारतें खतरनाक स्थिति में हैं उन्हें भी खाली करा लिया गया है। जोन-11 के DCP विशाल ठाकुर ने बताया, 'हमारी टीम रातभर से रेस्क्यू में जुटी है। अभी भी मलबे में कुछ लोग फंसे हो सकते हैं।' एक चश्मदीद शाहनवाज खान ने बताया, 'हमारे फोन करने के तुरंत बाद फायर ब्रिगेड की टीम पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया।'

एक ही परिवार के 9 सदस्यों की हुई मौत

BMC से मिली जानकारी के मुताबिक, सबसे पहले एक चार मंजिला इमारत की दो मंजिलें इसके ठीक बगल में मौजूद एक दो मंजिला घर पर गिरी हैं। इसमें भी कुछ लोगों की मौत हुई है। मृतकों में एक ही परिवार के 9 सदस्य शामिल हैं। ये सभी चार मंजिला इमारत में किराए से रहते थे। इस परिवार में जीवित बचे एक मात्र सदस्य मोहम्मद रफी ने बताया, 'मैं रात को दूध लेने गया था। घर लौटा तो यह इमारत गिर गई थी। इसमें मैं अपनी पत्नी, भाई-भाभी और 6 बच्चों के साथ रहता था। बच्चों में दो लड़के और एक लड़की थी।' रफी ने आगे बताया, 'घर की कंडीशन अच्छी थी। अगर यह खराब होती तो हम इसे खाली कर देते। हमें नहीं पता था कि ऐसा हादसा भी हो सकता है।'

इस दुर्घटना में इन 11 लोगों की हुई मौत

  1. साहिल सरफराज सैयद(9)
  2. आरिफ शेख(9)
  3. शफीक मोहम्मद सलीम सिद्दीकी(45)
  4. तौसीफ शफीक सिद्दीकी(15)
  5. अलीशा शफीक सिद्दीकी(10)
  6. आलिफशा शफीक सिद्दीकी (1.5)
  7. हसीना शफीक सिद्दीकी(6)
  8. इशरत बानो शफीक सिद्दीकी(40)
  9. रहीशा बानो शफीक सिद्दीकी(40)
  10. ताहिस शफीक सिद्दीकी(12)
  11. जॉन इर्रानन्न (13)
रेस्क्यू अभी भी जारी है। मलबे में कुछ और लोग दबे हो सकते हैं।
रेस्क्यू अभी भी जारी है। मलबे में कुछ और लोग दबे हो सकते हैं।
मौके से मलबा हटाती JCB। लोगों की भीड़ जमा होने की वजह से मलबा हटाने में दिक्कत हो रही है।
मौके से मलबा हटाती JCB। लोगों की भीड़ जमा होने की वजह से मलबा हटाने में दिक्कत हो रही है।

मुंबई में आज भी बारिश का रेड अलर्ट
मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में बुधवार को लगभग पूरे दिन बारिश हुई। इससे निचले इलाके घुटनों तक पानी में डूब गए। पश्चिमी उपनगर सांताक्रूज में बुधवार सुबह साढ़े 8 बजे से दोपहर ढाई बजे तक छह घंटों में 164.8 मिलीमीटर बारिश हुई है। मौसम विज्ञान विभाग ने आज भी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है।

खबरें और भी हैं...