EVM पर टकरार:डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहा-जब राजस्थान और पंजाब में सरकार आई तो कांग्रेस के लिए EVM सही थी और अब गलत है

मुंबई2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजित पवार मुंबई में पत्रकारों से बात कर रहे थे। - Dainik Bhaskar
अजित पवार मुंबई में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

राज्य के पूर्व विधानसभा स्पीकर और कांग्रेस के वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कुछ दिनों पहले मतदाताओं को EVM की जगह पर मतपत्र से मतदान करने का विकल्‍प देने के लिए कानून बनाने की बात कही थी। गुरुवार को राज्य के डिप्टी सीएम अजित पवार ने इसको लेकर पलटवार किया है। अजित पवार ने कहा है कि उन्हें EVM पर पूरा भरोसा है। बार-बार इस मुद्दे को उठाने को लेकर उन्होंने इशारों में कांग्रेस को फटकार भी लगाई है।

जब सरकार बनी तो EVM सही था
मुंबई में अजित पवार ने कहा है कि जब कांग्रेस की सरकार राजस्‍थान और पंजाब में आई तब तो EVM सही और जहां भारी मतों से हार मिली वहां कहते हैं कि ईवीएम मैनेज किया गया है। अजित पवार ने कहा,'जब ईवीएम मशीन था तब भी कांग्रेस की सरकार राजस्थान और पंजाब में आई। तब भी बहुत बार हमारी पार्टी के लोग अच्छा बहुमत मिला तो कहते हैं सब ठीक है। बहुत ज्यादा वोटों से हार गए तो बोलते हैं EVM मैनेज किया गया।'

मैंने EVM के दौर में 7 चुनाव लड़ें
अजित पवार ने आखिर में कहा, 'मैंने छह से सात चुनाव ऐसे लड़े हैं, जिनमें ईवीएम का इस्तेमाल हुआ है। यह मशीन उचित मतदान को सुनिश्चित करती है और सही संख्या दर्शाती है।'

पवार ने कहा कि भाजपा-एनसीपी के बीच गठबंधन की कोशिश नहीं हो रही
EVM को लेकर अजित पवार के इस रुख पर पत्रकारों ने जब उनसे पूछा कि क्या वे और बीजेपी फिर नजदीक आ रहे हैं। इसपर पवार का कहना था कि बीजेपी और एनसीपी के बीच किसी तरह के गठबंधन की कोई कोशिश नहीं हो रही है। अजित ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार में शामिल तीनों पार्टियां एक साथ हैं और किसी को कयासबाजी पर विश्वास नहीं करना चाहिए।

अमित शाह की शरद पवार संग बातचीत की थी चर्चा

गौरतलब है कि बीते दिनों जब अमित शाह ने महाराष्ट्र के सिंधदुर्ग का दौरा किया था, तब ये चर्चा थी कि उन्होंने एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार से फोन पर बात की थी। इसी के बाद से ही महाराष्ट्र के गलियारों में एनसीपी-बीजेपी के साथ आने की बात चल रही थी। हालांकि, एनसीपी के अजित पवार ने इन अटकलों को अब खारिज किया है।

खबरें और भी हैं...