पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

IT के रडार पर बॉलीवुड:रिलायंस एंटरटेनमेंट समेत 4 कंपनियों के कई ठिकानों पर छापे, सरकार का विरोध करने वाले अनुराग कश्यप और तापसी से पुणे में पूछताछ

मुंबई4 महीने पहलेलेखक: आशीष राय
  • कॉपी लिंक
आयकर छापे के दायरे में कई और बड़े फिल्मी कलाकार और प्रोड्यूसर्स का नाम भी आ सकता है। - Dainik Bhaskar
आयकर छापे के दायरे में कई और बड़े फिल्मी कलाकार और प्रोड्यूसर्स का नाम भी आ सकता है।

इनकम टैक्स (IT) डिपार्टमेंट ने बुधवार को फिल्ममेकर्स और एंटरटेनमेंट कंपनियों के ठिकानों पर छापे मारे। प्रोड्यूसर-डायरेक्टर अनुराग कश्यप, एक्ट्रेस तापसी पन्नू के घर और ऑफिस के अलावा फैंटम फिल्म्स, रिलायंस एंटरटेनमेंट, Kwan टैलेंट हंट कंपनी और एक्सीड कंपनी के ठिकानों पर छापा मारा गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू से पुणे में पूछताछ भी की जा रही है। पूरा मामला सवाल-जवाब में समझिए...

कहां-कितनी जगहों पर रेड?
मुंबई के लोखंडवाला, अंधेरी, बांद्रा और पुणे में बुधवार सुबह 8 से 9 बजे के बीच रेड शुरू हुई। करीब 30 जगहों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने तलाशी ली। इनमें अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू के मुंबई स्थित घर भी शामिल हैं।

कौन-कौन सी हस्तियां रडार पर?
अनुराग और तापसी के अलावा Kwan और फैंटम फिल्म्स के पार्टनर मधु मंटेना और डायरेक्टर विकास बहल के ठिकानों पर छापा पड़ा है। रिलायंस एंटरटेनमेंट ग्रुप के CEO शिबाशीष सरकार के घर पर भी छापे मारे गए हैं।

छापों की वजह क्या है?
अब तक IT डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है, लेकिन डिपार्टमेंट को फैंटम फिल्म्स कंपनी के कामकाज और लेनदेन में गड़बड़ी का शक है। छापेमारी में मिले दस्तावेज और सबूतों के आधार पर जांच का दायरा बढ़ सकता है।

क्या सभी छापे एक-दूसरे से जुड़े हैं?
फैंटम फिल्म्स कंपनी को अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवाने, मधु मंटेना और विकास बहल ने 2010 में लॉन्च किया था। 2018 में विकास बहल पर यौन शोषण का आरोप लगने के बाद यह कंपनी बंद कर दी गई थी। इन चारों पर आरोप है कि फैंटम फिल्म से हुई कमाई का सही ब्यौरा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को नहीं दिया गया और इसे कमतर दिखाया गया।

दूसरा पहलू यह है कि मंटेना ने एक महीने पहले ही फैंटम फिल्म्स में अनुराग कश्यप, विकास बहल और विक्रमादित्य मोटवानी का कुल 37.5% हिस्सा खरीद लिया। 12.5% का हिस्सा उनके पास पहले से था। इस प्रोडक्शन हाउस में बाकी 50% हिस्सेदारी अनिल अंबानी ग्रुप की रिलायंस एंटरटेनमेंट के पास है। यानी छापे किसी न किसी तरह से एक-दूसरे से कनेक्टेड हैं।

अनुराग-तापसी क्यों निशाने पर हैं?
अनुराग और तापसी देश में चल रहे मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखने के लिए जाने जाते हैं। तापसी किसान आंदोलन का समर्थन करती रही हैं। इस आंदोलन पर पॉप स्टार रिहाना ने सोशल मीडिया पर कमेंट किया तो जवाब में बॉलीवुड और खेल जगत की कई हस्तियों ने सरकार के पक्ष में ट्वीट किए थे। तापसी ने इन सेलिब्रिटीज के खिलाफ अपनी राय रखी थी। वहीं, अनुराग कश्यप CAA जैसे मुद्दों पर मोदी सरकार को घेर चुके हैं।

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की टीम ने ओशिवारा के विंडर वेयर अपार्टमेंट में छापा मारा। यहां अनुराग कश्यप का फ्लैट है।
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की टीम ने ओशिवारा के विंडर वेयर अपार्टमेंट में छापा मारा। यहां अनुराग कश्यप का फ्लैट है।

फैंटम फिल्म्स ने कौन-सी फिल्में बनाईं हैं?
फैंटम फिल्म्स कंपनी की पहली फिल्म लुटेरा 2013 में आई थी। इसके बाद इस बैनर के तहत हंसी तो फंसी, क्वीन, अगली, NH-10, हंटर, मुंबई वेलवेट, मसान, शानदार, उड़ता पंजाब, रमन राघव-2, रॉन्ग साइड राजू, मुक्केबाज, सुपर 30 और धूमकेतु जैसी फिल्में बनीं। धूमकेतु 2020 में रिलीज हुई थी।

छापों पर क्या रिएक्शन आए हैं?
जिन सेलिब्रिटीज के यहां छापे पड़े हैं, उन्होंने अभी तक कोई रिएक्शन नहीं दिया है। महाराष्ट्र सरकार ने छापों की निंदा की है। मंत्री अशोक चव्हाण ने कहा, ‘ये रेड कोई नई बात नहीं हैं। आजकल तो यह रोज का मामला हो गया है। जो भी केंद्र सरकार के खिलाफ बोलता है, उस पर दबाव बनाने के लिए सरकार यह तरीका अपनाती है। सरकार इस तरीके से लोगों की आवाज बंद करने का काम कर रही है।’