पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

महाराष्ट्र में कोरोना:5 हजार संक्रमित मरीजों वाला पहला राज्य बना महाराष्ट्र, यहां हुई देश में सबसे ज्यादा 251 मौतें

मुंबई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महाराष्ट्र में मंगलवार को भी 500 से ज्यादा मरीज पॉजीटिव पाए गए, जिसके बाद महाराष्ट्र में कुल मरीजों की संख्या 5,218 हो गई है
  • मंगलवार को 151 मरीज उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिए गए और अब तक 722 मरीज अस्पतालों से घर भेजे जा चुके हैं
  • महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में देश के किसी भी राज्य की कुल मौतों के मुकाबले सबसे ज्यादा 151 मौतें हो चुकी हैं

महाराष्ट्र में मंगलवार को 552 कोरोना संक्रमितों के मिलने के साथ ही राज्य में मरीजों की संख्या बढ़कर 5218 हो गई। वहीं, आज 19 मरीजों की मौत हुई है, जिसमें से 12 सिर्फ मुंबई से हैं। इसके अलावा तीन पुणे से, दो ठाणे और एक-एक सांगली और पिंपरी चिंचवाड़ से है। राज्य में अब तक कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या 251 हो गई है। मुंबई में भी संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 3451 तक पहुंच गई है। आज यहां 419 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। मुंबई में देश के किसी भी राज्य की कुल मौतों के मुकाबले सबसे ज्यादा 151 मौतें हो चुकी हैं।

महाराष्ट्र में देश के सबसे ज्यादा मरीज भी ठीक हुए 
आज हुई मौतों में नौ मरीज 60 साल से अधिक उम्र के हैं। वहीं, 40 से 59 के बीच के नौ और 40 उम्र के एक मरीज का समावेश है। मंगलवार को 151 मरीज उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिए गए और अब तक 722 मरीज अस्पतालों से घर भेजे जा चुके हैं।

43 दिन में 5 हजार से ज्यादा मामले
महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 9 मार्च को पुणे में आया था। दुबई से लौटे पति-पत्नी संक्रमित पाए गए थे। 43 दिन में संक्रमितों की संख्या 5 हजार को पार कर गई। 17 मार्च को राज्य में संक्रमण से पहली मौत हुई। 35 दिन में मौतों का आंकड़ा 250 को पार कर गया। देश में सबसे ज्यादा मौतें और सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में ही हैं। 

मुंबई-पुणे को लॉकडाउन में दी गई छूट वापस ली
उधर मुंबई और पुणे में महाराष्ट्र सरकार ने लॉकडाउन में जो राहत दी थी उसे अब रद्द करने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई और पुणे में लॉकडाउन के दौरान दी गई राहत और छूट को वापस लेने का फैसला लिया है क्योंकि लोग मनमानी कर रहे हैं। राज्य के बाकी हिस्सों में आंशिक ढील मिलती रहेगी।' सोमवार को महाराष्ट्र सरकार ने जब कुछ सहूलियत दी तो भारी संख्या में लोग सड़कों पर निकल आए थे।

महाराष्ट्र में अधिक मामले मिलने का कारण
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी में चेन्नई के वैज्ञानिक तरुण भटनागर ने कहा, 'तार्किक व्याख्या यह है कि जितना ज्यादा परीक्षण होगा, उतने अधिक मामले मिलेंगे।’ उन्होंने कहा कि जो राज्य वर्तमान दिशा-निर्देशों के साथ अधिक संख्या में संदिग्ध मामलों का परीक्षण कर रहे हैं, वे अधिक मामले पाएंगे। महाराष्ट्र में मंगलवार तक 83,111 परीक्षण किए गए। 

ज्यादा मौतों के लिए यह कारक हैं जिम्मेदार
हेल्थ एक्सपर्ट्स की माने तो ज्यादा मौतों के लिए एक से ज्यादा बीमारी, उम्र, बीमारी की गंभीरता, देर से अस्पताल ले जाना और खराब स्वास्थ्य सुविधाएं जिम्मेदार होती हैं। मुंबई में कई मामले अस्पताल से संबंधित संक्रमण के हैं। जिन रोगियों को अन्य बीमारियों के लिए भर्ती कराया गया, बाद में उनकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद संक्रमण स्वास्थ्य कर्मचारियों के बीच फैल रहा है। बुधवार की प्रेस वार्ता में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि यदि मामलों का देर से पता चलता है तो यह अधिक संख्या में मौतों में एक भूमिका निभा सकते हैं। यही कारण है कि मामलों की प्रारंभिक पहचान महत्वपूर्ण है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें