पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महामारी का होटल इंडस्ट्री पर असर:5 स्टार हयात रिजेंसी होटल के पास नहीं है कर्मचारियों को वेतन देने का पैसा, अगले आदेश तक बंद किया गया कामकाज

मुंबई12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हयात रिजेंसी ने कहा कि यस बैंक ने एक लोन नहीं चुका पाने के कारण बैंक में उसके एस्क्रो खाते से भुगतान करने पर रोक लगा दी है। - Dainik Bhaskar
हयात रिजेंसी ने कहा कि यस बैंक ने एक लोन नहीं चुका पाने के कारण बैंक में उसके एस्क्रो खाते से भुगतान करने पर रोक लगा दी है।

कोरोना महामारी के इस काल में लॉकडाउन की वजह से टूरिजम बिजनेस पूरी तरह से ठप हो गया है। तकरीबन डेढ़ साल से ज्यादा समय तक मुंबई में होटल्स के बंद रहने के कारण फाइव स्टार्स होटल्स भी अब आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मुंबई के हयात रिजेंसी होटल के पास अपने कर्मचारियों की सैलरी देने के पैसे नहीं हैं और उसने अपना कामकाज अस्थायी रूप से बंद कर दिया है।

होटल ने कहा-हमारे पास नहीं है फंड
एशियन होटल्स (वेस्ट) ने एक बयान में कहा, 'होटल के सभी ऑन-रोल स्टाफ को सूचित करना चाहते हैं कि हयात रिजेंसी मुंबई के ओनर एशियन होटल्स वेस्ट लिमिटेड से कोई फंड नहीं आ रहा जिससे कि कर्मचारियों की सैलरी दी जा सके या होटल का कामकाज चलाया जा सके। इसलिए तत्काल प्रभाव से यह निर्णय लिया गया है कि सभी कामकाज अस्थायी रूप से बंद कर दिए जाएं।'

हयात रिजेंसी ने मंगलवार को कहा कि यस बैंक ने एक लोन नहीं चुका पाने के कारण बैंक में उसके एस्क्रो खाते से भुगतान करने पर रोक लगा दी है। इसलिए पैसे की कमी को देखते हुए अगले आदेश तक होटल बंद रहेगा।

महामारी का बड़ा असर पड़ा
एशियन होटल्स (वेस्ट) ने बयान में आगे कहा कि कंपनी और पूरे होटल उद्योग पर महामारी के व्यापक असर के कारण वह 28 अप्रैल, 2021 को यस बैंक के कर्ज का भुगतान नहीं कर सकी। बैंक ने उसके बाद "एस्क्रो खाते में होटल के रोज कारोबार की आय सहित उसमें की सभी प्रकार की धनराशि के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है।"

टैक्स के पैसे चुकाने की मंजूरी भी नहीं मिली
कंपनी ने कहा कि होटल को उक्त खाते से सरकारी टैक्स (जीएसटी,वैट, टीडीएस, पीएफ आदि) , वेंडर पेमेंट, थर्ड पार्टी के कर्मचारियों के वेतन (300 से ज्यादा) और होटल की दूसरी जरूरी सेवाओं सहित किसी के लिए भी भुगतान करने की मंजूरी नहीं है। एशियन होटल्स (वेस्ट) ने आगे कहा कि यस बैंक ने केवल होटल के बिजली, पानी और गैस शुल्कों के लिए कंपनी के सस्पेंड एकाउंट से कुछ भुगतान किए हैं।

खबरें और भी हैं...