संजय राउत का आरोप:शिवसेना सांसद ने कहा-राणा दंपति ने दाउद के गुर्गे यूसुफ लकड़ावाला से लिए 80 लाख, ED करे जांच

मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद नवनीत राणा (बाएं) फिलहाल मुंबई की भायखला महिला जेल में बंद हैं और उन पर राजद्रोह का केस दर्ज है। - Dainik Bhaskar
सांसद नवनीत राणा (बाएं) फिलहाल मुंबई की भायखला महिला जेल में बंद हैं और उन पर राजद्रोह का केस दर्ज है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और यहीं से विधायक रवि राणा पर अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम के गुर्गे रहे यूसुफ लकड़ावाला से संबंध का आरोप लगाया है। शिवसेना सांसद ने सोशल मीडिया में एक जांच रिपोर्ट की कॉपी पोस्ट कर आरोप लगाया कि राणा दंपति ने लकड़ावाला से 80 लाख रुपए कर्ज के रूप में लिए थे।

राउत ने इस कागज को आधार बना इस मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय से करवाने की मांग की है। संजय राउत ने यह भी कहा कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा का सवाल है। इसलिए इसकी जांच जरुरी है।

सोशल मीडिया में राउत का पोस्ट

मुंबई पुलिस 'बंटी और बबली' की सच्चाई सामने : राउत

इस विवाद से पहले मुंबई पुलिस ने राणा दंपति का एक वीडियो जारी किया था। मुंबई पुलिस के कमिश्नर संजय पांडे द्वारा जारी इस वीडियो में बताया गया कि गिरफ्तारी के बाद राणा दंपति के साथ कोई बदसलूकी नहीं हुई है। इसी पर संजय राउत ने कहा,'पूरे देश को संजय पांडे का धन्यवाद देना चाहिए। देश की पुलिस डिपार्टमेंट को जो बदनाम करने की साजिश हो रही थी, उसे आज मुंह तोड़ जवाब दिया गया है। जो वीडियो मुंबई पुलिस कमिश्नर ने जारी किया है उसमें साफ देखा जा सकता है कि यह बंटी और बबली आराम से पुलिस स्टेशन में बैठे हैं और गपशप कर रहे हैं। उनके सामने चाय रखा है, उनके सामने पानी रखा है और मैं यह कहना चाहता हूं कि वह क्यों मुंबई पुलिस को बदनाम कर रहे हैं।' राउत ने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि आप उस महिला के लिए केंद्रीय गृह मंत्री को चिट्ठी लिख रहे हैं जिसका फर्जी कास्ट सर्टिफिकेट सामने आया है। वह जेल जाने वाली है, अभी भी जेल में है उसके लिए आप गृह मंत्री को पत्र लिख रहे हैं।'

लकड़ावाला की 9 सितंबर 2021 को आर्थर रोड जेल में मौत हो गई थी।
लकड़ावाला की 9 सितंबर 2021 को आर्थर रोड जेल में मौत हो गई थी।

जेल में हुई थी युसूफ की मौत
प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले साल 29 मई को खुद को बिल्डर और फिल्म फाइनेंसर बताने वाले युसूफ एम लकड़ावाला को गिरफ्तार किया था। उसे 50 करोड़ की एक जमीन के फर्जी दस्तावेज बनाने के आरोप में ED ने मनी लॉन्ड्रिंग कानून की धाराओं में गिरफ्तार किया गया था। सूत्रों की मानें तो लकड़ावाला ने इस जमीन को कब्जाने के एवज में सरकारी अधिकारियों, एस्टेट एजेंट्स और अन्य लोगों को 11.5 करोड़ रुपए की घूस भी दी थी। बाद में 09 सितंबर 2021 को आर्थर रोड जेल में उसकी मौत हो गई थी।

2019 में भी गिरफ्तारी हुई थी
इससे पहले मावल तालुका के तत्कालीन सब-रजिस्ट्रार जितेंद्र बड़गुजर ने उस वक्त लकड़ावाला के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद लकड़ावाला के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था। 12 अप्रैल 2019 को लकड़वाला को उस वक्त अहमदाबाद एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया गया था, जब वह देश छोड़कर भागने की फिराक में था। इस साल फरवरी में ही उसे जमानत मिली थी।