लापरवाही / मुंबई से चली श्रमिक स्पेशल गोरखपुर जानी थी, पहुंच गई 738 किमी दूर ओडिशा के राउरकेला

Workers special from Mumbai had to go to Gorakhpur, reached 738 km Rourkela of Odisha
X
Workers special from Mumbai had to go to Gorakhpur, reached 738 km Rourkela of Odisha

  • रेलवे की गड़बड़ी, ट्रैफिक का हवाला दिया
  • ट्रेन आठ राज्यों को क्रॉस करते हुए ओडिशा पहुंची

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

मुंबई. 50 के दशक का गाना- ‘जाना था जापान, पहुंच गए चीन समझ गए न।’ कुछ ऐसा ही हुआ मुंबई से गोरखपुर के लिए रवाना हुई श्रमिक स्पेशन ट्रेन के साथ। ट्रेन को पहुंचना था गोरखपुर। लेकिन पहुंच गई 738 किमी दूर ओडिशा के राउरकेला। 21 मई को मुंबई के वसई रोड से गोरखपुर के लिए रवाना हुई इस ट्रेन को शॉर्टेस्ट रूट से गुजरना था। लेकिन रेलवे ने इसका रूट बदलकर काफी लंबा कर दिया और यह ट्रेन 8 राज्यों का चक्कर काटकर राउरकेला पहुंच गई। पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी रविंद्र भाकर ने बताया कि वसई रोड-गोरखपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन के रूट में भारी ट्रैफिक के चलते बदलाव किया गया था।

ट्रेन को कल्याण, भुसावल, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, नैनी, दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन होते हुए गोरखपुर पहुंचना था। यह इसका सबसे छोटा रास्ता तो नहीं है, लेकिन रेलवे ने जो तय किया, उसी के हिसाब से चलनी थी। ट्रेन को करीब तीन राज्यों से गुजरना था। लेकिन जब उसका रूट बदल दिया गया और यह ट्रेन 8 राज्यों का चक्कर काटकर ओडिशा पहुंची। इस बीच यात्रियाें काे लगा कि ट्रेन रास्ता भटक गई है। वहीं, मामले पर जब सवाल उठे तो रेलवे अधिकारियों ने कहा कि मौजूदा रूट में भारी ट्रैफिक के कारण उसके मार्ग में बदलाव किया गया था। इस कारण ट्रेन भटक गई। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

दो बार झारखंड होते हुए गोरखपुर पहुंचेगी

पहले श्रमिक स्पेशल ट्रेन को महाराष्ट्र और मप्र से होते हुए यूपी पहुंचना था। लेकिन अब यह महाराष्ट्र, मप्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, झारखंड, प. बंगाल, फिर झारखंड और बिहार होते हुए यूपी पहुंचेगी। गलती को लेकर जानकाराें का कहना है कि सामान्य दिनाें में राेजाना 11,000 से ज्यादा ट्रेनें चलती हैं। इसलिए ट्रैफिक ज्यादा हाेने के रेलवे अधिकारियाें के दावे पर विश्वास करना कठिन है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना